Sunday, October 1, 2017

गांव बंचारी में किया गया सर्कल कबड्डी का अयोजन


पलवल, 01 अक्तूबर(abtaknews.com ):- केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने रविवार को गांव बंचारी में स्व0 अमरसिंह व स्व0 सूरजमल की यादगार में करवाए जा रहे सर्कल कबड्डी टूर्नामेंट में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में पधार कर सभा को संबोधित किया।  इस अवसर पर हरियाणाा श्रम कल्याण बोर्ड के वाईस चेयरमैन हरीप्रकाश गौतम, पलवल के भाजपा जिलाध्यक्ष जवाहर सिंह सौरोत, जिला परिषद की चेयरपर्सन चमेली देवी सोलंकी, इंडिया स्पोर्ट संघ के राष्ट्रीय सचिव व पूर्व जिला पार्षद महेंद्र सिहं, राधेश्याम कालड़ा, रामनिवास तंवर, महेन्द्र प्रजापत, जिला परिषद के उपप्रधान संतराम बैसला तथा गांव के सरपंच राजेन्द्र मुख्य रूप से मौजूद थे।

केन्द्रीय राज्यमंत्री ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि बंचारी गांव कवियों का गांव है। इससे गांव की पहचान पूरे देश में होती है। उन्होंने कहा कि खेलों का हमारे जीवन में बहुत महत्व है। खेलों से हमारा शरीर स्वस्थ रहता है। श्री गुर्जर ने कहा कि हरियाणा सरकार खेलों के प्रति बहुत गंभरी हैं। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने हरियाणा में ओलंपिक में गोल्ड मैडल लाने पर 05 करोड़ रूपए सिल्वर मैडल लाने पर 04 करोड़ तथा कांस्य मैडल लाने पर 03 करोड़ रूपए देने की घोषणा की हुई हैं। इससे हमारे हरियाणा के खिलाडिय़ों में काफी उत्साह है और वो ओलंपिक में मैडल जीतने के लिए जीतोड़ मेहनत कर रहे हैं। 

श्री गुर्जर ने कहा कि गांव के विकास में किसी भी प्रकार की कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि वे गांव के विकास के लिए पहले भी 50 लाख रूपये की घोषणा कर चुके है। जिसमें से गांव के विकास के लिए 29 लाख रूपये आ चुके है और जल्द ही 21 लाख रूपये विकास के लिए दे दिए जाएंगे। उन्होंने गांववासियों द्वारा गांव के विकास के लिए रखी गई मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया। उन्होने 05 लाख रूपये बारातघर, 05 लाख रूपये खेल स्टेडियम में रनिंग ट्रैक बनाने के लिए तथा 15 लाख रूपये गांव के अन्य विकास कार्यों के लिए देने की घोषणा की।  

इस मौके पर जिला परिषद की चेयरपर्सन चमेली देवी सोलंकी ने कहा कि गांव में 21 लाख रूपये के विकास कार्य जिला परिषद द्वारा करवाए जाएंगे। इस अवसर पर ग्रामवासियों ने अतिथियों को स्मृति चिन्ह देकर तथा पगडी बांधकर व फूलमालाओं से स्वागत अभिनंदन किया। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: