Saturday, October 21, 2017

एक जैसी शिक्षा व एक जैसे व्यहवार से ही देश का पूर्ण विकास सम्भव : लक्ष्य



लखनऊ 21 अक्टूबर 2017(abtaknews.com)लक्ष्य की टीम की महन्त रंग लाईलखनऊ के काकोरी छेत्र के गांव चौखडी खेड़ा में गावं की  बेटियों ने सम्भाली सामाजिक आंदोलन की कमान तथा उन्होंने तथागत गौतम बुद्धसंत रविदासडॉ भीम राव आंबेडकरशिक्षा ज्योति सावत्री बाई फुले व् मान्यवर कांशी राम पर निबंध प्रतियोगिता व् कैडर कैम्प का आयोजन कर यह सिद्ध कर दिया कि बेटियां किसी से कम नहीं है! इन बेटियों ने ही कार्यक्रम की बागडोर संभाली ! गावं की बेटियों दुवारा आयोजित इस कैडर कैम्प में महिलाओंयुवाओ व् बेटियों ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया !  ऐसा प्रतीत हो रहा था मानो जैसे कोई उत्सव हो और लोगो का उत्साह देखते ही बन रहा था !

लक्ष्य द्वारा इस प्रतियोगिता में आसपास के गावों के कुल 57 प्रतिभागिओ ने हिस्सा लिया जोकि एक सहरानीय प्रयास रहा! इस कैडर कैंप में गावं की बेटी लक्ष्य कमांडर शीतल गौतमशिल्पी गौतमप्रीति गौतमपिंकी गौतममधु गौतमरश्मि गौतमसंजना गौतमसविता गौतम व् शालिनी गौतम ने अपने विचार रखते हुए शिक्षा पर जोर दिया! उन्होंने शिक्षा के महत्व को समझते हुए कहा कि शिक्षा ही परिवारसमाज व् देश को विकास का मार्ग देता है अंत हमें अपने बच्चो को अवश्य शिक्षित करना चाहिए!उन्होंने बेटियों की शिक्षा पर भी जोर दिया !  उन्होंने कहा कि सभी को एक समान शिक्षा व् एक समान व्यहवार मिलना चाहिए तभी समाज व् देश का पूर्ण  विकास सम्भव हो सकेगा !  बेटियों ने बाबा साहेब डॉ भीम राव आंबेडकर के उस कथन को दोहराते हुए कहा कि अधिकार मांगने से नहीं मिलते है अधिकारों को तो छीनना पड़ता है! उन्होंने एकता पर बल देते हुए कहा कि महिलाओ को किसी भी भेदभाव व् शोषण को सहन नहीं करना चाहिए अपितु उसके खिलाफ आवाज बुलंद करनी चाहिए!

लक्ष्य युवा कमांडर गोविन्द गौतमराकेश गौतमआशीर्वाद गौतमसतेंद्र गौतमहरी प्रसाद गौतमकमल गौतमजय बंधूजितेंद्र गौतम व् विशाल गौतम ने भी अपने विचार रखे! उन्होंने बाबा साहेब डॉ भीम राव आंबेडकर व् बहुजन समाज के महापुरषो को याद करते हुए आधुनिक शिक्षा पर जोर दिया तथा वर्तमान परिस्थितियों पर मंथन करते हुए सभी युवा कमांडरों ने प्राण लिया कि आने वाले समय हम सब मिलकर गावं गावं जाकर बाबा साहेब के सपनो को साकार करेंगे चाहे इसके लिए कितना भी त्याग क्यों न करना पड़े! कार्यकर्म का सफल आयोजन लक्ष्य कमांडर इंजीनियर अखलेश गौतमविपिन चन्द्राअखलेश कुमार "तूफानी" व् अन्यो के प्रासयो से संभव हुआ !


loading...
SHARE THIS

0 comments: