Sunday, October 1, 2017

भगवान वाल्मीकि के प्रकट दिवस के अवसर पर बाल्मीकि समाज द्वारा निकाली गई शोभायात्रा


फरीदाबाद, 01 अक्तूबर (abtaknews.com) भगवान वाल्मीकि के प्रकट दिवस के अवसर पर बाल्मीकि समाज द्वारा विशाल शोभायात्रा निकाली गई। जिसका शुभारंभ आम आदमी पार्टी के बडख़ल विधानसभा अध्यक्ष धर्मबीर भड़ाना ने रिबन काटकर किया। यह यात्रा एन.एच.5 से एन.एच.1, नेहरू कॉलोनी, एन.एच.3 से होते हुए वापिस बी के चौक पहुंची। उन्होंने कहा कि भगवान वाल्मीकि आदिकवि के रूप में प्रसद्धि रहे हैं। उनके द्वारा रची रामायण वाल्मीकि रामायण कहलाई। वो महान विद्वान थे और शिक्षा के क्षेत्र में उन्होंने अनेक आयाम स्थापित किए। जब राम ने अपनी पत्नी सीता का त्याग कर दिया था, तब ऋषि वाल्मीकि ने ही उन्हें प्रश्रय दिया था। सतयुग, त्रेता तथा द्वापर तीनों युगों में वाल्मीकि जी का उल्लेख मिलता है। रामचरित्र मानस के अनुसार जब राम वाल्मीकि आश्रम आए थे तो वो आदिकवि वाल्मीकि के चरणों में दण्डवत प्रणाम करने के लिए जमीन पर डंडे की भांति लेट गए थे और उनके मुख से निकला था तुम त्रिकालदर्शी मुनिनाथा, विश्व बिद्र जिमि तुमरे हाथा। अर्थात आप तीनों लोकों को जानने वाले स्वयं प्रभु हो। ये संसार आपके हाथ में एक बेर के समान प्रतीत होता है। धर्मबीर भड़ाना ने कहा कि वाल्मीकि ऋषि महान थे और उनके आदर्शों को हमें जीवन में उतारना चाहिए। शोभा यात्रा में अनूप चंडालिया, राजेन्द्र चंडालिया, महेश आदिवंशी, नरेश शास्त्री, बलबीर बालगुहेर, सी के चंडालिया, राजकु़मार आदिकाई, कर्मबीर, सुभाष द्रविड, सौरभ पत्रकार, अमित कुमार, अनिल चंडाल, अमित खैरालिया आदि शामिल थे। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: