Saturday, October 28, 2017

प्रभु स्मरण से मिलती है जीवन में सफलता : उमेशाचार्य


फरीदाबाद, 28 अक्तूबर(abtaknews.com) : प्रभु स्मरण तथा वेदों के बताए मार्ग पर चलने वालों को ही जीवन में सफलता मिलती है। प्रभु स्मरण से तन,मन स्वच्छ रहता है तथा मस्तिष्क में भी सकारात्मक विचारों का समावेश होता है। इसलिए हमें हमेशा प्रभु के चरणों में ध्यान लगाना चाहिए। यह बात ग्रेटर फरीदाबाद स्थित प्रेरणायाम मेंं हो रही श्रीमद् भागवत कथा से पूर्व निकाली गई कलश शोभा यात्रा में शामिल श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए कथा व्यास उमेशाचार्य जी महाराज ने कही। उन्होंने कहा कि वर्तमान युग तकनीकी और प्रतियोगी युग है जिसमें व्यक्ति ने अपना शरीर मशीन बना दिया है लेकिन प्रभु का स्मरण केवल संकट के क्षणों में नहीं करता है। यदि हम प्रतिदिन अपने व्यस्तम जीवनचर्या में से कुछ क्षण प्रभु स्मरण के लिए निकाले तो संकटों का नाश प्रभु स्वत: ही कर सकते हैं। सत्संग सुनने और सत्संग करने से धर्म के साथ-साथ व्यक्ति में मानवता के प्रति उच्च विचारों का समावेश होता है जो लोग दूसरों की मदद के लिए आगे आते हैं ऐसे भक्तों से प्रभु प्रसन्न होते हैं। शोभायात्रा में नरेंद्र थापर, अखिलेश भारद्वाज, सतीश शास्त्री, जगत नारायण, विजय कुमार पुरी, एन.जी. गर्ग, गणेश शास्त्री, सामंत श्रीधर सहित अनेक श्रद्धालु उपस्थित थे।



loading...
SHARE THIS

0 comments: