Saturday, October 14, 2017

डीएवी शताब्दी काॅलेज फरीदाबाद में दसवें महर्षि दयानन्द मेमोरियल लेक्चर का आयोजन


फरीदाबाद 14अक्टूबर,2017 (abtaknews.com) डी.ए.वी. शताब्दी काॅलेज फरीदाबाद में  दसवें महर्षि दयानन्द मेमोरियल लेक्चर का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम का आयोजन डी.ए.वी. षताब्दी काॅलेज, फरीदाबाद व राष्ट्रीय चेतना षक्ति के संयुक्त तत्वाधान में किया गया। कार्यक्रम का षुभारम्भ माननीय मुख्य अतिथि श्री विरेंन्द्र सिंह (इस्पात मंत्री, भारत सरकार) प्राचार्य  डा. सतीष आहूजा व डा. सुखबीर सिंह (राष्ट्रीय चेतना षक्ति) ने दीप प्रज्जवलित करके व डी.ए.वी. गान द्वारा किया।

मुख्य अतिथि श्री विरेंन्द्र सिंह (इस्पात मंत्री, भारत सरकार) ने कहा कि महर्षि दयानन्द एक महान विभूति थे। उन्होनें अपने सामाजिक कार्यो के जरिए पूरी दुनिया में जागरूक्ता फैलाने का काम किया है। वे हम सभी के लिए प्रेरणा स्रोत है। उनसे हमें प्रेम और दया का पाठ सीखना चाहिए। कार्यक्रम के गेस्ट आॅफ आॅनर प्रोफेसर दिनेष कुमार (कुलपति वाई एम. सी.ए. यूनिवर्सिटी) ने कहा कि महर्षि दयानन्द जैसी पहचान पूरी दुनिया में किसी और की नहीं है। उन्होनें समाज में नई ऊर्जा व षक्ति भरने का काम किया था। उनके प्रेरणात्मक भाषणों से आज भी युवाओं में नया जोष भर देते है। मुख्य वक्ता प्रो. डा. रघुवेन्द्र यादव (कुरूक्षेत्र यूनिवर्सिटी) ने कहा कि डी.ए.वी. द्वारा दसवें महर्षि दयानन्द मेमोरियल लेक्चर का आयोजन काफी सराहनीय है। अपने ज्ञान के बल पर महर्षि दयानन्द विष्व विजेता बने। उनके अनुयायी देष ही नहीं, बल्कि दुनिया के हर कोने में नजर आते है।

प्राचार्य  डा. सतीष आहूजा जी ने कहा महर्षि दयानन्द ने कहा था कि देष की वर्तमान व भविष्य में आने वाली परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए हमें अपनी वर्तमान षिक्षा प्रणाली में परिवर्तन करने के आवष्यकता है। उन्होनें कहा कि षिक्षा का उद्देष्य व्यक्ति को व्यावहारिक बनाना होना चाहिए और  डी.ए.वी. काॅलेज इसी ओर तत्पर है। डा. सुखबीर सिंह (राष्ट्रीय चेतना षक्ति) ने आये सभी मेहमानों का स्वागत किया। कार्यक्रम में डा. सुनीति आहूजा, डा. दिव्या त्रिपाठी, श्री मुकेष बंसल, श्री अरूण भगत आदि उपस्थित रहें। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: