Saturday, October 21, 2017

डिपो होल्डर और खाद्य पूर्ति विभाग की कालाबाजारी रोकने की एक और पहल


फरीदाबाद (abtaknews.com) 21 अक्टूबर,2017 ; डिपो होल्डर और खाद्य पूर्ति विभाग की कालाबाजारी रोकने के शुरू की गई नई पहल के बारे में जानकारी लेकर डिपो होल्डर की लूट से बचा जा सकता है। एक और पहल डिपो होल्डरों द्वारा की जा रही लूट का तरीका":-बायोमेट्रिक प्रणाली द्वारा राशन वितरण -  सरकार द्वारा आदेश पारित किए जाने के बावजूद भी नहीं रुक रही लूट। लूट से बचने का तरीका आरटीआई एक्टिविस्ट वरुण श्योकंद ने एक वीडियो के माध्यम से बताया है जिसमें सही प्रक्रिया दर्शाई गई है। 

फरीदाबाद में कोई भी डिपो धारक किसी भी कार्डधारक को कंप्यूटराइज्ड पर्ची नहीं देता। ना ही मशीन में कार्डधारक का फोन नंबर फीड करता।और जब हमारी टीम ने अलग-अलग जगह पर जाकर उनसे इस कारण का पूछा तो जवाब देते हैं कि सरकार द्वारा कागज नहीं दिया जाता कंप्यूटराइज्ड पर्ची के लिए।अब आपको जानकर आश्चर्य होगा कि एक रोल जो ₹10 का आता है उस से करीबन 200 कार्ड धारको की पर्ची निकल सकती है। 

मतलब की कंप्यूटराइज पर्ची ना देने का सिर्फ एक कारण है,  कि इनके लूट पर विराम लग जाएगी। अभी कच्ची पर्ची देते हैं यह लोग कुल वजन से 10 15 किलो कम अनाज  लिखकर। आप नीचे दिए दिए गए दृश्य में देख भी सकते हैं।अतः आपसे निवेदन है कि आप सब लोग 2-2 रोल ₹20 के मुझे भेजें या अपने पास ले कर रखें। कैश पैसे  और ट्रांसफर का यहां कोई प्रावधान नहीं है । अगले हफ्ते जिन्हें हम जाकर फूड एंड सप्लाई डिपार्टमेंट के अफसरों के मुंह पर मारेंगे।  
4 Attachments

loading...
SHARE THIS

0 comments: