Sunday, October 29, 2017

हरियाणा की बेस्ट जिमनास्ट चुनी गई निमिता अरोड़ा का पलवल में हुआ जोरदार स्वागत


पलवल(abtaknews.com) 29 अक्टूबर,2017 ; भिवानी में आयोजित इंटर स्टेट स्कूल  चैंपियनशिप में बेस्ट जिमनास्ट का खिताब जीतने वाली फरीदाबाद की निमिता अरोड़ा का पलवल रेस्ट हाउस में भारतीय मानवाधिकार एसोसिएशन व एक न्यूज चैनल द्वारा जोरदार स्वागत किया गया। जिमनास्ट निमिता अरोड़ा के साथ साथ उनके कोच नवीन सैनी का भी स्वागत किया गया। इस अवसर पर निमिता अरोड़ा के माता-पिता भी विशेष रूप से उपस्थित थे। निमिता ने हाल ही में 12 अक्टूबर से 15 अक्टूबर तक भिवानी में आयोजित इंटर स्कूल चेंपियनशिप में बेस्ट जिमनास्ट का खिताब जीता था। भिवानी में 21 जिलों से करीब साढ़े सात सौ बच्चों ने हिस्सा लिया। बेस्ट जिमनास्ट चुने जाने के साथ ही उसका नेशनल में सलेक्शन हो गया। कलकता में 14 नवंबर से 18 नवंबर तक होने वाले नेशनल गेम्स में खेलने के लिए निमिता हरियाणा की ओर से हिस्सा लेगी। हाल ही में 22 अक्टूबर से 25 अक्टूबर तक अंबाला कैंट में हुए खेल महाकुंभ में निमिता की टीम ने ब्रोंज मेडल हासिल कर जिले का गौरव बढ़ाया। खेल महाकुंभ में 18 जिलों के खिलाडिय़ों ने हिस्सा लिया।

मार्डन डीपीएस फरीदाबाद में नवीं कक्षा में  पढऩे वाली निमिता का कहना है कि वह देश के लिए ओलंपिक खेलकर मैडल जीतना चाहती है। अपने पेरेंटस व स्कूल के टीचिंग स्टॉफ के साथ साथ कोच नवीन सैनी को अपनी सफलता का श्रेय देेते हुए निमिता ने कहा कि वह प्रसिद्व जिमनास्ट दीपा करमारकर को अपना आदर्श मानती है। वह तीन साल से जिमनास्ट में है। स्कूल की टीचर सुनीता राठी ने सबसे पहले उसके भीतर छिपी खेल प्रतिभा को पहचाना था। स्वागत करने वाली संस्थाओं का उसने आभार प्रकट करते हुए कहा कि वह उनकी कसौटियों पर खरा  उतरने का प्रयास करेगी।

इस अवसर पर भारतीय मानवाधिकार एसोसिएशन के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रवीण आहूजा, क्षेत्रीय महासचिव विकास कुमार, जिला  उपाध्यक्ष संजय चुटानी, न्यूज चैनल के संचालक सुरेन्द्र गर्ग आदि ने निमिता का स्वागत किया। कोच नवीन सैनी को धातु निर्मित सांई बाबा की प्रतिमा भेंटकर स्वागत किया गया।भारत में पिछले कुछ सालों में जिमनास्ट के प्रति क्रेज बढ़ा  है। हरियाणा में भी अनेकों खिलाडिय़ों ने श्रेष्ठ प्रदर्शन किया है। निमिता अरोड़ा शुरू से ही खेल के प्रति गंभीर रही है। किसी भी खिलाड़ी की खेल प्रतिभा को उभारने में उनके पेरेंटस का बहुत बड़ा योगदान रहता है। विशेषकर लड़कियों के मामले में पेरेंटस खेल की बजाए पढ़ाई पर ध्यान देते हैं। जबकि खेल के प्रति रूचि रखने वाले स्टूडेंटस पढ़ाई में भी अच्छा खासा प्रदर्शन करते हैं। निमिता अभी और ऊंचाइयों को छूएगी।अभी तक निमिता व आयुष्मा नेशनल गेम में खेलने वाली दो प्लेयर्स हैं। दो ओर प्लेयर्स भी गुरूग्राम में 30-31 नवंबर को होने  वाले गेम्स में चुने जा सकते हैं। नेशनल गेम्स में हरियाणा से कुल 60 स्टूडेंटस भाग लेने कलकता जाएंगे।  

हमारी बेटी शुरू से ही जिमनास्ट के प्रति रूचि रखती रही है। हमेें शुरू में लगा नहीं था कि उनकी बेटी बेस्ट परफारमेंस करेगी। परंतु जैसे ही उसने अच्छा प्रदर्शन करना शुरू किया तो उन्होंने भी अपना पूरा ध्यान उस पर  फोकस किया। कोच नवीन सैनी की एडवाइज को हम लगातार फॉलो करते रहे। हमारा सपना है कि हमारी बेटी निमिता श्रेष्ठ प्रदर्शन कर प्रदेश व देश का नाम विदेश में  ऊंचा करे। हर मां बाप की इच्छा होती है  उसकी संतान श्रेष्ठ कार्य करे। हमारी बेटी निश्चित रूप से वल्र्ड फेम जिमनास्ट बनकर देश का नाम ऊंचा करेगी। 
मां-वर्षा अरोड़ा टीचर एंव पिता प्रवीण अरोड़ा महासचिव  श्री सांई सेवादार समिति पलवल

मानवाधिकार एसोसिएशन लड़कियों की शिक्षा व खेल में मिली सफलताओं पर उन्हें सम्मानित करती रही है। भविष्य में भी लड़कियों को बढ़ावा देने के लिए उनकी सफलताओं पर सम्मान किया जाता रहेगा। निमिता ने सही मायनों में कठिन परिस्थितियों में प्रदेश की बेस्ट जिमनास्ट का खिताब जीतकर पलवल का नाम रोशन किया है। हमारी संस्था खेल प्रतिभाओं को निखारने के लिए लगातार प्रयासरत है। 
प्रवीण आहूजाप्रदेश उपाध्यक्ष मानवाधिकार एसोसिएशन

मैंने अपनी पौत्री निमिता के भीतर छिपी खेल प्रतिभा को बचपन में ही पहचान लिया था। वह जब घर में होती थी तो हर एक्टिविटी में उसकी हलचल जिमनास्ट वाली रहती थीं। वह उसकी गोद में भी आती थी तो उछलकूद करते हुए आती थी। तब भी उसकी परफेक्ट टाइमिंग रहती थी। उन्होंने नई दिल्ली के इंदिरा गांधी खेल स्टेडियम में अपनी पौत्री का एडमिशन करा दिया है। सप्ताह में तीन दिन होने वाली ट्रेनिंग में वह अपनी पौत्री के साथ जाया करेंगी। 

हमें खुशी है कि पलवल की बेटी ने फरीदाबाद में रहकर जिमनास्ट में अपने क्षेत्र का नाम रोशन किया है। यदि प्रत्येक मां बाप प्रवीण अरोड़ा व वर्षा अरोड़ा की तरह सोच रखते हुए बेटियों को पढ़ाएं व खेलों में भागीदारी कराएं तो खेल की दुनिया में हरियाणा का परचम और अधिक लहराएगा। हम सभी यही कामना करते  हैं कि निमिता इसी तरह उच्च कोटि का खेल प्रदर्शन कर विश्व में पलवल, फरीदाबाद व हरियाणा का नाम रोशन करे। अपने माता-पिता व दादा-दादी को इसी तरह खुशियां प्रदान करे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: