Tuesday, October 31, 2017

दो करोड़ बेरोजगारो को रोजगार देने का वादा करने वाली सरकार ''जुमला'' सरकार ; लाम्बा



फरीदाबाद, 31 अक्तूबर(abtaknews.com )सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सुभाष लाम्बा ने कहा कि देश में 77 प्रतिशत परिवार एेसे है, जिसमें कोई सदस्य नियमित वेतन पाने वाला नही है । उन्होने कहा कि मोदी सरकार ने दो करोड़ बेरोजगारो को रोजगार देने का जो वादा लोकसभा चुनाव में किया था, वह चुनावी जुमला ही साबित हुआ । उन्होने यह आरोप जन एकता जन अधिकार जन प्रतिरोध राष्ट्रीय आन्दोलन के तहत बी. के. चौक पर आयोजित कर्मचारी -मजदूर सभा को संबोधित करते हुए लगाया । सभा के बाद सभा में मौजूद सैकड़ों मजदूरों व कर्मचारियों ने बीके चौक से नीलम चौक तक मशाल जुलूस निकाला और केन्द्र व राज्य सरकार की मजदूर, कर्मचारी, किसान व जन विरोधी नीतियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया । प्रदर्शन का नेतृत्व सीटू के प्रधान निरंतर पराशर, महासचिव लाल बाबू शर्मा,बिरेन्द्र पाल सिंह,सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सुभाष लाम्बा, खंड प्रधान परमाल सिंह, करतार सिंह व एटक के प्रधान बिशम्बर सिंह आदि कर रहे है । इस अवसर पर सर्व सम्मति से पारित किये प्रस्ताव में केन्द्रीय ट्रेड यूनियन के आह्वान पर 9-10-11 नवम्बर के तीन दिवसीय महापड़ाव /धेराव में बढ चढ़ कर शामिल होने का निर्णय लिया । सरकारी कर्मचारी 9 मजदूर 11 नवम्बर को संसद धेराव में शामिल होंगे ।

सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सुभाष लाम्बा व सीटू के महासचिव लाल बाबू शर्मा ने मजदूरों व कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कहा कि स्वदेशी का नकली राग अल्पाने वाली सरकार विदेशी पूंजी निवेश के लिए पूंजी पतियों के हको में मजदूर विरोधी संशोधन करने जा रही । सरकार बेरोजगारो को रोजगार देने, सबको शिक्षा व चिकित्सा मुहैया करवाने, मंहगाई पर रोक लगाने की बजाय जाति व धर्म के नाम पर मेहनतकशो की एकता तोड़ने के प्रयास कर रही है । उन्होने कहा कि सरकार कारपोरेट सेक्टर के लाखों करोड़ टेक्सो को माफ कर रही है लेकिन रोजाना 52 किसान कर्ज के आत्महत्या करने पर मजबूर है, उनके ना तो कर्जे माफ किये जा रहे और ना स्वामीनाधन आयोग की सिफारिशों को लागू किया जा रहा । केन्द्र सरकार मजदूरों के 12 सूत्री मांग पत्र की अनदेखी कर रही है । सरकार अनुबंध कर्मियों को पक्का करने की बजाय भविष्य में ठेके पर भर्तियां करके युवाओं को शोषण की भट्टी में झौंकना चाहती है ।

loading...
SHARE THIS

0 comments: