Tuesday, October 17, 2017

दोहरी शिक्षा पद्धति देश के लिए विनाशकारी : लक्ष्य


सीतापुर 17अक्टूबर 2017(abtaknews.com)लक्ष्य की  टीम द्वारा उत्तर प्रदेश के जिला सीतापुर के ग्राम खाफाकलांमहमूदाबादमें एक दिवसीय कैडर कैम्प का आयोजन किया  जिसमे गांव कीमहिलाओं तथा युवाओं ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया लक्ष्य कमांडर सुषमा बाबू ने महिला शिक्षा में माता सावित्री बाई फूले के योगदान पर विस्तृत चर्चा की !  उन्होंने कहा कि बहुजन समाज को शिक्षा को ही  अपनी ताकत बनाना होगा ताकि  बहुजन समाज के लोगो का विकास हो सके ! उन्होंने देश में व्याप्त दोहरी शिक्षा पद्दति की भी आलोचना की !  उन्होंने कहा कि सरकारों को शिक्षा  पद्दति सुधारने की आवश्यकता है ताकि लोगोको रोजगार मिल सके ! 
लक्ष्य कमांडर राज कुमारी कौशल ने साफ सफाई एवं बच्चों की शिक्षा पर जोर दिया उन्होंने कहा कि समाज को रूढ़िवादी व्यवस्था  अंधविश्वास से दूर रहना चाहिए ताकि उनका विकास होसके !
 लक्ष्य कमांडर मुन्नी बौद्ध ने बाबा साहब डॉ भीमराव अम्बेडकर के द्वारा किए गए संघर्षों पर विस्तारपूर्वक जानकारी दी। उन्होंने कहा कि बहुजन समाज तथा महिलाओं को जो अधिकार मिले हैंवह केवल बाबा साहेब डॉ भीमराव अम्बेडकर के संघर्ष का परिणाम है।लक्ष्य कमांडर रे खा आर्या ने संगठन के कार्य एवं उद्देश्य बताए तथा उन्होंने बहुजन महापुरुषों विशेष रूप से मान्यवर कांशी राम के बहुजन जनजागरण में योगदान की विस्तारपूर्वक चर्चा की।उन्होंने कहा कि बहुजन समाज का उद्धार केवल उनके महापुरषो दुवारा बताये मार्ग से ही सम्भव है !  उन्होंने महिलाओ पर हो रहे अत्याचारों पर दुःख प्रकट किया !  उन्होंने महिलाओ से  शोषण के खिलाफ आवाज बुलंद करने की अपील की और सामाजिक क्रांति में अगवा होने की भी बात कही !
 इस अवसर पर लक्ष्य कमांडर संघमित्रा गौतम ने पंचशील त्रिशरणबुद्ध और उनके धम्म पर विस्तारपूर्वक चर्चा करते हुए कहा कि अब समय  गया है कि  तथागत गौतम बुद्ध के बताये मार्गको अपनाना ही होगाउन्होंने कहा कि तथागत गौतम की शिक्षाओं से प्ररेरित होकर डॉ भीम राव अम्बेडकर जी ने 14 अक्टूबर 1956 को अपने लाखों अनुयायियों के साथ बौद्ध धर्म अपनायाथा।
 लक्ष्य कमांडर प्रमोद भारती ने छत्रपति शाहू जी महाराज के द्वारा बहुजन समाज के उत्थान के लिए किये गये कार्यों पर विस्तृत जानकारी दी !कार्यक्रम का संचालन आरएलबौद्ध ने किया तथा आयोजन में मुख्य भूमिका  सत्य प्रकाश मौर्य  कौशलेन्द्र मौर्य की रही !
गावं के लोगो ने विशेषतौर से महिलाओं ने  लक्ष्य की महिला कमांडरों दुवारा किये जा रहे बहुजन जनजागरण की भूरी भूरी  प्रशंशा की !

loading...
SHARE THIS

0 comments: