Thursday, October 12, 2017

थैलेसीमिया रोकथाम एवं उन्मूलन जागरूकता के लिए 25 नवंबर को "वॉक फॉर ए कॉज़"


फरीदाबाद (abtaknews.com )संस्था के महासचिव श्री रविंदर डुडेजा ने बताया कि इस मिशन के पहले चरण के तहत फरीदाबाद में 25 नवंबर, 2017 एक मेगा "वॉक फॉर ए कॉज़" चैरिटी रैम्प वॉक शो किया जायेगा। इस शो 100 से अधिक संख्या में देश विदेश से मशहूर मॉडल्स, फैशन डिज़ाइनर्स, चारटर्ड एकाउंटेंट्स, ओलम्पिक पदक विजेता, डॉक्टर्स, इंजीनियर्स, मैनजमेंट प्रोफेसशनल्स, एयरोप्लेन पायलट्स, फार्मूला कार रेसर्स, टेलीविज़न न्यूज़ एंकर, वकील,अध्यापक, प्रोफेसर्स,  उधमी व् समाज सेवी थैलासीमिया ग्रस्त बच्चों के साथ रैम्प वॉक करेंगें। संस्था के इस महत्वपूर्ण कदम का स्वागत करते हुवे फरीदाबाद के लगभग सभी रोटरी क्लब, इंडियन मेडीकल एस्सोसियेशन फरीदाबाद चैप्टर, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र से कई जाने माने अस्पताल, लायंस क्लब, डी ए वी शताब्दी कॉलेज व् शहर की लगभग सभी समाजिक संस्थाओं ने इस अभियान में सहयोग देने का आश्वासन दिया है।

इस अवसर पर बोलते हुए,श्री मुकेश अग्रवाल, प्रेजिडेंट, रोटरी क्लब ऑफ़ दिल्ली साउथ सेंट्रल ने बताया कि फाउंडेशन अगेंस्ट थैलेसीमिया  पिछले बीस वर्षों से भी अधिक से थैलेसेमिक बच्चों के कल्याण के लिए अद्भुत सेवा का काम कर रही है, और थैलेसीमिया की रोकथाम और उन्मूलन के खिलाफ यह अभियान एक प्रशंसनीय कदम है, और उनका क्लब इस अभियान को बेहद सफल बनाने के लिए अपना पूर्ण समर्थन देगा।इस अभियान का समर्थन करने वाली महिला शक्ति का प्रतिनिधित्व करते हुए एक संयुक्त स्वर में, डॉ संजना जॉन - अंतर्राष्ट्रीय सेलिब्रिटी फैशन डिजाइनर, शशि अब्राहम, सुश्री रश्मी सचदेवा - मिसेज यूनिवर्स यूरो एशिया 2016,   दीपिका चावला - उपाध्यक्ष, अमेरिकन एक्सप्रेस, डॉक्टर पुनिता हसीजा  सुश्री वृंदा साहनी, सुश्री शराबोर्नी चटर्जी, रोटेरियन नविन गुप्ता प्रेजिडेंट रोटरी क्लब ऑफ़ फरीदाबाद इंडस्ट्रियल टाउन , रोटेरियन मनोहर पुनियानी रोटरी क्लब ऑफ़ फरीदाबाद मिड टाउन, डॉक्टर अंजू मुंजाल, सुश्री सीमा गुंबर, सरिता कालिया, गीतिका भाटिया इत्यादि ने कहा कि वे इस अभियान का हिस्सा बन के बेहद खुश हैं!  इन्होने बताया कि देश के नौजवान लड़के लड़कियों को थैलासीमिया के प्रति जागरूक व् शैक्षिक करने की ख़ास ज़रूरत है। और इसी बात को ध्यान में रखते हुवे वो ग्लैमरयुक्त तरीका अपना रहे हैं ताकि युवाओं का मनोरंजन भी हो सके और वो थैलासीमिया जैसी जानलेवा बीमारी के बारे में ज़रूरी जानकारी अर्जित कर समाज के प्रति अपनी ज़िम्मेदारी समझ सकें। उन्होंने वचन दिया कि वे संयुक्त रूप से और अपनी व्यक्तिगत क्षमताओं में प्रतिज्ञा करेंगे और इस संदेश को प्रसारित करेंगे कि एक साधारण एच.बी.ए.2 परीक्षण कैसे थैलेसीमिया को जड़ से रोक सकता है। इस विषय में इन महिलाओं की उच्च भावना और गंभीरता आश्चर्यजनक थी!  ये सभी महिलायें २५ नवंबर को रैंप पर वाक कर की भी कॉलेज स्टूडेंट्स,  गर्भवती महिलाओं व् जान साधारण को थैलेसीमिया की रोकथाम की बारे में सन्देश देंगी!

फाउंडेशन के कार्यकारिणी सदस्यों, श्री बी दास बत्रा और श्री जेके भाटिया ने बताया कि सस्था जल्द ही एन एच -1 फरीदाबाद में एक पूर्ण विकसित स्थायी आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित मेडिकल सेंटर खोलने के लिए निर्धारित है जिसमें मुफ्त रक्त चढ़ाना, निशुल्क नियमित स्वास्थ्य जांच और थैलेसीमिक बच्चों को नियमित रूप से मुक्त दवाओं व् अन्य ज़रूरी सुविधाएँ प्रदान की जाएंगी।संस्था की सदस्य श्री मदन चावला ने बताया की इस अवसर पर संस्था द्वारा थैलासीमिया बीमारी को चैक करने के लिये अनिवार्य HbA2 टैस्ट के लिये भी रजिस्ट्रेशन किये जायेंगें व् ज़रूरतमंद लोगों के लिये संस्था लगभग 1,200 रूपये वाले इस टेस्ट की बिल्कुल मुफ़्त सुविधा देगी।प्रेस सम्मेलन में  मिशन जाग्रति के प्रवेश मालिक, कवल खत्री, आनंद प्रकाश, महिंदर खुराना,  मनोहर पुण्यानि, जे डी अरोर, मनोज रतरा ने  भाग लिया था, जिन्होंने  थैलेसीमिया  के खिलाफ फाउंडेशन की कामयाबी की सफलता की कामना की और इस मिशन में अपने पूरे दिल से समर्थन का आश्वासन दिया।

loading...
SHARE THIS

1 comment: