Friday, September 8, 2017

भारतीय मौलवियों द्वारा अयोध्या विवाद को भड़काने की फ़िराक में है पाकिस्तान

pak-creating-hurdles-in-settlement-of-ayodhya-dispute

नई दिल्ली (abtaknews.com) नापाक पाकिस्तान कोई भी मौका नहीं चुकता।  अब पाकिस्तान भारतीय मौलवियों द्वारा अयोध्या विवाद को भड़काने की फ़िराक में उन्हें मोटी रकम देकर इस मामले को गर्माने का षड्यंत्र रच रहा है। उक्त खुलासा शिया केन्द्रीय वक्फ बोर्ड, उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष सईद वसीम रिजवी ने किया है।  अयोध्या विवाद के समाधान में हो रही देरी के लिए पाकिस्तान जिम्मेवार है। इस सारे मामले पर सुप्रीम कोर्ट में मुस्लिम समुदाय की तरफ से पैरवी करने वाले मुसलमानों का पाकिस्तान के साथ सीधा संबंध है। पाकिस्तान किसी भी कीमत पर भारत में खूनखराबा होते रहना चाहता हैं ताकि भारतीय लोग और वहां के नेता आपस में उलझे रहें। 

उक्त पूरे मामले में शिया नेता सईद वसीम रिजवी द्वारा एक अभियान चलाया जा रहा है जिसके तहत विवादित स्थल पर हिन्दुओं को राम मंदिर और मुस्लिम बहुल क्षेत्र में एक मस्जिद बनाने की अनुमति दी जाये। इसी सन्दर्भ में शिया केन्द्रीय वक्फ बोर्ड ने गत महीने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि अयोध्या में विवादित स्थल से 'उचित दूरी' पर एक मुसलमानों के लिए मस्जिद का निर्माण किया जा सकता है। उन्होंने कहा की हम चाहते है कि भारत के मुसलमानो की आम सहमति से और हिन्दुओ से बातचीत के जरिये इस पूरे मामले का समाधान हो।  
रिजवी ने कहा कि हम मुस्लिम भी चाहते है के सभी की सहमति से इस समस्या का समाधान हो क्योंकि देश के मुसलमान सच्चे देशभक्त है। हम हिंदुस्तान में बंटवारे के समय अपनी मर्जी से रुके और जो आजादी हिंदुस्तान में है वो दुनिया के किसी भी देश में नहीं है। रिजवी ने बताया कि  'पाकिस्तान के पेरोल पर मुल्लाओं और मौलवियों' के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए क्योंकि 'हम पाकिस्तान के इशारे पर काम करने वाले लोगों से बात नहीं करना चाहते है.' उन्होंने कहा, 'जो लोग बाबरी मस्जिद मुद्दे पर बात नहीं करना चाहते उनकी असलियत सामने आ गई है. वे लोग पाकिस्तान के कहने पर लोगों को गुमराह कर रहे हैं क्योंकि उन्हें वहां से पैसा मिल रहा है. खुफिया विभाग के लोग उनकी गतिविधियों के बारे में जानते हैं और हमें उम्मीद है कि उनके खिलाफ कार्रवाई होगी। शिया केन्द्रीय वक्फ बोर्ड का प्रतिनिधि मंडल जल्द ही कश्मीर का भी दौरा करेगा। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: