Friday, September 29, 2017

रोजमर्रा की जिंदगी में बदलाव करके हृदय रोगो से बचा जा सकता है: डा. एस एस बंसल



metro-hospital-seminar-world-health-day-faridabad

फरीदाबाद 29 सितम्बर(abtaknews.com)चिकित्सा क्षेत्र में अग्रणीय सेक्टर 16ए स्थित मैट्रो अस्पताल ने वल्र्ड हार्ट डे पर एक सेमीनार का आयोजन किया। इस सेमीनार में मुख्य रूप से अस्पताल के निदेशक एवं वरिष्ठ हृदय विशेषज्ञ डा. एस.एस. बंसल ने उपस्थितजनो को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज  सबसे अधिक मरीज हार्ट एवं कैंसर के है और इसका मुख्य कारण हमारा खान-पान एवं हम अपनी सेहत के प्रति सजग नहीं है। उन्होंने कहा कि हम सभी को अपनी सेहत का पूरा ध्यान रखना चाहिए और अगर किसी को इन दोनो से कोई बीमारी हो भी जाती है तो वह उसका ट्रीटमेँट सही समय पर करवाये एवं समय समय पर चैकअप कराते रहे तो वह कभी भी इस बीमारी से ज्यादा दिन पीडित नही रह सकता। उन्होने बताया कि डब्ल्यूएचओ के आकडा ेक माने तो दुनियां में तकरीबन 30 प्रतिशत लोगो की आकस्किम मौत हार्ट की बीमारियों की वजह से होती है। हृदय से समबंधित बीमारियों को नजरअंदाज करने की वजह से 33 प्रतिशत हार्ट अटैक के मरीज की जान 24 घंटे के अंदर चली जाती है। डा. बंसल ने कहा कि हम अपने रोजमर्रा की जिंदगी  में कुछ बदलाव लाकर हृदय रोगो के रिस्क को कम कर सकते है। उनहोंने कहा कि हसमय रहते अगर अच्छे कार्डियोलॉजिस्ट को दिखाया जाये तो मरीज की जान बचाई जा सकती है। इस वर्ड हार्ट डे पर हम सुनिश्चित करे कि हम अपने व अपने परिजनो का पूर्ण ध्यान रखेंगे।  डा. बंसल ने कहा कि एक विशेष्ज्ञ पहल के साथ मैट्रो अस्पताल ने वल्र्ड हार्ट डे के उपलक्ष्य में निशुल्क हृदय जांच शिविर की पहल करते हुए हृदय रोगों से सम्बंधित जांचो पर भारी छूट दी हे। उनके अनुसार प्रिवेन्टिक हेल्थ चैकअप के जरिये हम बीमारियों को समय पर रहते ही जान कर उनका निदान कर सकते है। लोगों को अपनी हेल्थ के प्रति जागरूक रहने के लिए एक महीने तक सभी प्रिवेन्टिक हेल्थ चैकअप पैकजों पर भी डिस्काउंट दिया है। साथ ही एजिंयोग्राफी पर 5000 तथा एंजियोप्लास्टी पर 20000 रूपये की छूट भी दी जा रही है। हृदय जांच शिविर में लगभग 350 मरीजो की जांच की गयी। इस अवसर पर डा. एस एस बंसल द्वारा हेल्थ टाक एवं लाइव फेसबुक सेशन के जरिये लोगो को हृदय से सम्बंधित बीमारियों एवं उनके उपचार के बारे में जागरूकता प्रदानक ी गयी।


loading...
SHARE THIS

0 comments: