Wednesday, September 20, 2017

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा ने पलवली में पीडि़त परिवारों को बंधाया ढांढस

ex-cm-bhupender-singh-hooda-meet-victim-family-palwali-greater-faridabad

फरीदाबाद(abtaknews.com) 20 सितंबर,2017 ; गांव पलवली में रविवार को हुए नरसंहार के पीडि़त परिवारों सांत्वना देने आज गांव पलवली पहुंचे प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने प्रदेश की खट्टर सरकार पर हल्ला बोलते हुए कहा कि इस नरसंहार ने कानून व्यवस्था की कलई खोलकर रख दी है कि किस प्रकार प्रदेश में गुंडातत्व हावी है। उन्होंने कहा कि गांव में 5-5 व्यक्तियों की सरेआम हत्या किए जाने के बावजूद प्रदेश के मुख्यमंत्री तो दूर की बात है सरकार का कोई प्रतिनिधि भी आज तीन दिन बीत जाने के बावजूद भी गांव पलवली में पीडि़त परिवारों का हालचाल पूछने तक नहीं पहुंचा है, जिससे साफ पता चलता है कि सरकार कितनी संवेदनशील है।  उन्होंने कहा कि सरकार पूर्ण रुप से फेल साबित हुई है तथा प्रदेश में आए दिन हत्या व डकैती जैसे घिनौने अपराध होना आम बात हो गई है। उन्होंने इस जघन्य हत्याकांड में बगैर किसी पक्षपात के सभी आरोपियों को कडी से कडी सजा दिलवाए जाने की पुरजोर मांग की है।

श्री हुड्डा आज तिगांव क्षेत्र के गांव पलवली में पीडि़त परिवारों को ढांढस बंधाने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। इस मौके पर उनके साथ तिगांव क्षेत्र के विधायक ललित नागर, पूर्व स्पीकर एवं विधायक कुलदीप शर्मा, पूर्व मंत्री करण सिंह दलाल, पूर्वमंत्री पंडित शिवचरण लाल शर्मा, पूर्व मुख्य संसदीय सचिव शारदा राठौर, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता लखन सिंगला, कांग्रेसी नेता विजय प्रताप, प्रो. रतिराम, हरियाणा अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष अब्दुल गफ्फार कुरैशी, पूर्वमंत्री खुर्शीद अहमद के पुत्र मेहताब अहमद, जिला युवा कांग्रेस के अध्यक्ष तरुण तेवतिया मौजूद थे। इस मौके पर श्री हुड्डा ने सभी पांच मृतकों के परिवारों के घर जाकर उन्हें ढांढस बंधाते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी दुख की इस घडी में उनके साथ चट्टान की तरह खड़ी है तथा उनके साथ हुए इस घनघोर अन्याय के विरोध में वह सरकार के खिलाफ उनकी आवाज बुलंद करने का काम करेंगे और तिगांव क्षेत्र के आपके विधायक ललित नागर को अपने प्रतिनिधि के तौर पर आपके बीच में रहने के निर्देश दिए है तथा वह आपके हर दुख-सुख की घड़ी में साथ रहेंगे।
ex-cm-bhupender-singh-hooda-meet-victim-family-palwali-greater-faridabad

इस मौके पर ग्रामीणों ने हुड्डा के समक्ष अपना दुखड़ा रोते हुए बताया कि तीन दिन बीतने के बावजूद भी स्थानीय सांसद एवं केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर, कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल, भाजपा के विधायकों के साथ-साथ कोई भी अधिकारी उनके गांव में आकर उनकी सुध तक नहीं ली है। उन्होंने आरोप लगाया कि यह पूरा नरसंहार राजनीतिक संरक्षण में हुआ है और कृष्णपाल गुर्जर अस्पताल में आरोपी बिल्लू से मिलने जाते है, लेकिन उनके पास मृतक परिवारों के हालचाल पूछने का समय नहीं है। ग्रामीणों ने यह भी रोष व्यक्त किया के प्रशासन ने आरोपियों की खाली कोठियों पर तो सुरक्षा लगाई हुई है लेकिन इस नरसंहार के पीडि़त परिवारों की सुरक्षा के लिए कोई प्रबंध नहीं किया। ग्रामीणों ने श्री हुड्डा के समक्ष रोते-बिखलते कहा कि आज उनका सरकार से भरोसा उठ गया है ऐसे में केवल आप ही है, जिन पर विश्वास किया जा सकता है। ग्रामीणों ने मुख्य आरोपी बिल्लू सहित सभी आरोपियों को कडी से कडी सजा दिलवाने की मांग की। पूर्व मुख्यमंत्री श्री हुड्डा ने कहा कि समाज में ऐसे जघन्य अपराध करने वालों के लिए कोई स्थान नहीं है, जहां तक राजनैतिक संरक्षण की बात है तो सरकार को चाहिए कि तुरंत आरोपियों के खिलाफ कडी कार्यवाही करते हुए दोषियों को सलाखों के पीछे भेजा जाए वहीं जिस-जिस घर के दीये बुझ गए है, उन्हें आर्थिक मदद के साथ-साथ सरकारी नौकरी का प्रावधान करना भी सरकार की जिम्मेदारी बनती है। इस अवसर पर पूर्व पार्षद योगेश ढींगड़ा, जगन डागर, गुलशन बगगा, सूरजपाल उर्फ भूरा, विकास वर्मा नंबरदार, राजेश खटाना, संदीप वर्मा, कमल चंदीला, शिवशंकर भारद्वाज, मनोज नागर, भूदत्त पाराशर सहित अनेकों कांग्रेसी कार्यकर्ता मौजूद थे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: