Wednesday, September 13, 2017

असफलता कुछ नहीं होती, सफलता ही बड़ी या छोटी होती है : राजीव चावला


फरीदाबाद 13 सितंबर(abtaknews.com ) आईएमएसएमई ऑफ इंडिया के चेयरमैन राजीव चावला ने कहा कि जीवन में आगे बढऩा है तो लक्ष्य स्पष्ट होना चाहिए। इस लक्ष्य तक पहुंचने के लिए समय प्रबंधन आवश्यक है। असफलता कुछ नहीं होती। सफलता ही बड़ी या छोटी होती है।  वे एनएच तीन स्थित डीएवी शताब्दी कॉलेज में बीबीए संकाय में राष्ट्रीय स्तर पीपीटी प्रतियोगिता ‘‘रिसर्च प्वाइंट’’ में मुख्यातिथि के तौर पर बोल रहे थे। इसमें 6 राज्यों हरियाणा,पंजाब,उत्तर प्रदेष, नई दिल्ली,राजस्थान एवं मध्य प्रदेश के लगभग 20 कॉलेजों के लगभग 40 प्रतिभागियों ने प्रबन्धन के विभिन्न विषयों पर अपनी प्रस्तुति दी। प्रतिभागियों के साथ उनके प्राध्यापकगण भी इस आयोजन में शामिल हुए। चावला ने कहा कि हर संस्था एवं व्यक्ति को अपने जीवन में अनेक परीक्षाओं से गुजर कर दोबारा खड़ा होना होता है। ऐसे में वे असफलता से न डरें। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रिंसिपल डॉ. सतीश आहूजा ने की। उन्होंने कहा कि  सभी को सफल लोगों के जीवन से अवश्य प्रेरणा लेनी चाहिए। प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में  कर्नल वी. के गौड़, भूतपूर्व निदेशक- मानव रचना इंटरनेषनल यूनिवर्सिटी, डा. एस. के. मट्टा, निदेशक मैनेजमेंट इंस्टीटयूट, लॉयड ग्रुप ऑफ  इंस्टीट्यूट ग्रेटर नोएडा, उत्तर प्रदेश व ए. के. शर्मा, निदशक भारत एकेडमी, नई दिल्ली थे। मुकेष बंसल, कोओर्डिनेटर बी. बी. ए. इस कार्यक्रम के संयोजक व  वीरेन्द्र भसीनए डीन  बी. बी. ए. सहसंयोजक रहे। कार्यक्रम की  आयोजक समिति में  अंकिता रंजन,ज्योति मल्होत्रा, ओमिता जौहर व रश्मि रतूडी शामिल थे। इस मौके पर डा सुनीति आहूजा, डा. सतीश सलूजा, अरूण भगत, सुरभि सहित बी0 बी0 ए0 संकाय के सभी प्राध्यापकगण उपस्थित थे।
इन कॉलेज के छात्रों का शानदार रहा प्रदर्शन
पहला स्थान मणिक अग्रवाल डीएवीआईएम फरीदाबाद, दूसरा स्थान सौम्या सतयुग दर्शन फरीदाबाद व नूर अरोड़ा डीएवी फरीदाबाद, तीसरा स्थान लोकेश लायड इंस्टीटयूट नोएडा को मिला। इनके साथ साक्षी दिल्ली यूनिवर्सिटी जाकिर हुसैन और कशिका अमेठी यूनिवर्सिटी की छात्रा को भी तीसरा स्थान मिला। साक्षी शर्मा, मोनिका, नेहा रावत, आशिमा मेहता और मानसी जैन को सात्वांना पुरस्कार मिला। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: