Thursday, September 14, 2017

जिले में पोलीथीन को नकारना लाजिमी, लागू हुए आदेश : उपायुक्त


फरीदाबाद, 14 सितम्बर।  जिल में शुरू होने जा रहे स्वच्छता ही सेवा कार्यक्रम की शुरूआत स्वच्छता शपथ के साथ-साथ पोलीथीन का निषेध व पाबन्दी लागू करके की जायेगी। उपायुक्त समीरपाल सरो ने यह निर्णय आज इस मुहिम को जिले में शत-प्रतिशत रूप में सफल बनाने के उद्देश्य से हुडा कन्वैंशन सैन्टर-सैक्टर-12 में आयोजित विभिन्न प्रकार की आठ बैठकों में लिया। श्री सरो ने ये बैठकें सम्बन्धित अधिकारियों, सरपंचों, निगम पार्षदों, आरडबल्यूएज, गैर सरकारी संगठनों, औद्योगिक संगठनों, समाजसेवियों व प्रबुद्ध लोगों के साथ ली।
उपायुक्त ने कहा कि पोलीथीन का प्रयोग मानव जीवन के साथ-साथ पशु-पक्षियों के जीवन के लिए भी अत्यन्त घातक व हानिकारक है। इससे सीवरेज जाम हो जाते हैं और नालियों में भी दूषित पानी का बहाव रूक जाता है। जिससे गंदगी फैलती है जिसकी  वजह से विभिन्न प्रकार की बीमारियां फैलती हैं। खुल में पड़ी पोलीथीन की थैलियों को गऊ जैसा निरीह व पावन प्राणी भी खाकर अकाल  मौत का ग्रास बन जाता है। 
श्री सरो ने कहा कि पोलीथीन का निर्माण करना, भण्डारण व बिक्री करना तथा इस्तेमाल करना गैर कानूनी है। अत: ऐसा करने से हर व्यक्ति को बचना चाहिए। पोलीथीन की थैलियों में किसी प्रकार के खाद्य पदार्थ फल, सब्जियां व मिठाई इत्यादि इसके तत्व के सम्पर्क में आकर हमारे सवास्थ्य को खराब करने का कारण बनता है। इसके स्थान पर कपड़े से बने थैले व कैरी बैग्स प्रयोग करना ही बेहतर होता है। उपायुक्त ने आदेश दिए हैं कि जिले में पोलीथीन के निर्माण, भण्डारण विक्रय तथा प्रयोग करने वाले लोगों के खिलाफ नियमानुसार कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जायेगी।

loading...
SHARE THIS

0 comments: