Saturday, September 23, 2017

पलवल में पराली व फसलों के अवशेष जलने पर पाबंदी संबंधित बैठक


पलवल 23 सितम्बर(abtaknews.com) उपायुक्त मनीराम शर्मा ने निर्देश दिए कि पटवारी, ग्राम सचिव  यह सुनिश्चित करेंगें कि गांव में कोई किसान पराली व फसलों के अवशेष तो नहीं जला रहा है। यदि उन्हें कोई सूचना मिलती है तो इस संबंध में तत्काल अपने संबंधित अधिकारी को तत्काल इसकी सूचना दें।  संबंधित तहसीलदार या नायब तहसीलदार को इसकी सूचना दें। उपायुक्त ने लघु सचिवालय स्थित कान्फ्रैंस हॉल में धान के पराली जलाने के संबंध में पटवारियों, ग्राम सचिवों व अन्य संबंधित अधिकारियों के साथ धान के अवशेषों को जलाने पर पूर्णत: प्रतिबंध लगाने, पर्यावरण प्रदूषण कंट्रोल एक्ट को जिला में दृढ़ता से  लागू करने व प्रदूषण को रोकने के लिए सख्त निर्देश दिए। 
उन्होंने सख्त निर्देश दिए कि पटवारी यह सुनिश्चित करेंगे कि गांव में कोई किसान धान की पराली या फसलों के अवशेष नहीं जला रहा है। यदि उन्हें कोई सूचना मिलती है तो तुरंत संबंधित तहसीलदार अथवा नायब तहसीलदार को दें। इस बारे में संबंधित तहसीलदार, नायब तहसीलदार हरियाणा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों को सूचित करेंगे। उन्होंने कहा कि सभी पटवारी नम्बरदारों के माध्यम से गांव में किसानों को सूचित करें कि यदि पराली जलाई जाती है तो उनके विरूध कार्यवाही की जाएगी और जुर्माना भी किया जाएगा। प्रत्येक गांव के बारे में सैटेलाईट के माध्यम से यह पता चल जाएगा कि कहां पर फसल के अवशेष जलाए जा रहे हैं। 
उन्होंने ग्राम सचिवों को निर्देश दिए कि वे यह सुनिश्चित करेंगे कि गांव में कोई किसान पराली या फसलों के अवशेष तो नहीं जला रहा है। यदि कोई सूचना मिलती है तो वह तत्कााल खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी को इस बारे में सूचित करे। प्रत्येक ग्राम पंचायत एक प्रस्ताव पास करेगी कि उनके गांव में फसलों के अवशेष को जलाने पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। यदि किसी गांव में फसलों के अवशेष नहीं जलाए जाते हैं और उसकी पुष्टि जिला स्तरीय कमेटी द्वारा की जाती है तो उस पंचायत को प्रदूषण विभाग द्वारा सम्मानित किया जाएगा। सभी ग्राम सचिव अपनी-अपनी ग्राम पंचायतों को सूचित करें तथा किसानों से अंडरटेकिंग लें।
उपायुक्त ने कृषि विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी कृषि विकास अधिकारी अपने क्षेत्र में फसलों के अवशेष रोकने के लिए पूर्ण योगदान देंगें और किसानों को कम्पोजिट खाद बनाने के लिए प्रोत्साहित करेंगे। इसके अतिरिक्त भविष्य में फसलों के अवशेष जलाने वाले किसानों को सरकार द्वारा दी जा रही सुविधाओं को लाभ नहीं मिलेगा।
उपायुक्त मनीराम शर्मा ने खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे फसलों के अवशेष व धान की पराली को ईंट के भट्टों में प्रयोग करने के लिए संभावनाएं तलाशे। उन्होंने उद्योग विभाग के अधिकारियों को फसलों के अवशेष व धान पराली को किसी भी उद्योग के बॉयलरों में प्रयोग करने के लिए संभावनाएं तलाशने के निर्देश दिए।

loading...
SHARE THIS

0 comments: