Wednesday, September 13, 2017

बढ़ते किसान आंदोलन से बेखर राष्ट्रीय मीडिया

how-rajasthan-farmers-protest-is-one-step-ahead-of-mandsaur

नई दिल्ली (abtaknews.com) 13 सितंबर ,2017; जिस किसान आंदोलन से इलेक्ट्रॉनिक्स मीडिया जानबूझ कर बेखर  है। वह जनआंदोलन अब महाराष्ट्र से मध्यप्रदेश के मंदसौर से निकल कर राजस्थान पहुंच गया है और उसके बाद हरियाणा फिर अंतिम पड़ाव दिल्ली होगा। आज सभी मीडिया हाउस बलात्कारी बाबा  गुरमीत राम रहीम के डेरे की तलाशी अभियान में जुटे हुए हैं। मीडिया का सारा ध्यान राष्ट्रीय मुद्दों से हटाकर राम रहीम की करतूतें दिखाने में व्यस्त है। 


किसाना आंदोलन की मांगे ; उचित दाम, किसानों के कर्ज की माफी और समर्थन मूल्य पर खरीद। तमिलनाडु के किसान, मंदसौर में गोली खाए किसान, महाराष्ट्र में दूध व सब्जियां सड़क पर फेंकने वाले सभी किसानों की एक ही मांग है कि आखिर उसे न्याय कब मिलेगा। 
अखिल भारतीय किसान सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमरा राम का कहना है कि किसान क्यों मर रहा है। जब तक किसान को उसकी फसल के सही दाम नहीं मिलेंगे, अधिग्रण की गई जमीन का सही मुआवजा नहीं मिलेगा।कर्ज से मुक्त नहीं किया जाएगा, तब तक उसकी स्थिति नहीं बदलेगी। वे अपना आंदोलन जारी रखेंगे।
हरियाणा की सीमा से सटे सीकर, झुंझुनूं, चुरू, हनुमानगढ़ और पंजाब से लगते श्रीगंगानगर किसान आंदोलनों की जमीन रहे हैं। साल 2004 में भी वसुंधरा राजे के कार्यकाल में श्रीगंगानगर के घड़साना में कामरेड हेतराम बेनीवाल के नेतृत्व में इंदिरा गांधी नहर के पानी को लेकर किसान आंदोलन काफी उग्र हो गया था

loading...
SHARE THIS

0 comments: