Saturday, September 2, 2017

ईद पर भैंस काटने को लेकर म्यांमार के मुसलमानो के साथ मारपीट


फरीदाबाद 2 सितंबर। फरीदाबाद के एक गांव में ईद के मौके पर भैंस काटने को लेकर म्यांमार के रोहिंग्या जनजाति के मुसलमानो के साथ मारपीट का मामला सामने आया है. रोहिंग्या पिछले 2 सालो से फरीदाबाद के मुंजेड़ी गाँव में रिफ्यूजी  की हैसियत से रह रहे हैं. आरोप है कि हमलावर उनसे ईद के लिए लाई गई भैंसो को भी छीन कर ले गए. पुलिस फिलहाल मुकदमा दर्ज करने में जुटी है। मीडिया के सामने अपनी चोटे दिखते यह लोग रोहिंग्या जनजाति के मुस्लिम हैं और मूलत: म्यांमार (बर्मा) के रहने वाले हैं. यह लोग यूनाइटेड नेशन्स ह्यूमन राइट कमीशन की इज़ाज़त से रिफ्यूजी बनकर फरीदाबाद के मुंजेड़ी गाँव में डेरा डाले हुए हैं. पीडि़तों के मुताबिक बीती शाम को आज ईद पर क़ुरबानी देने के लिए दो भैंस खरीद कर लाये थे, तभी शाम को दो लडक़ो ने आकर उनसे भैंसो के बारे में पूछा फिर हमें भैंस ले जाने की धमकी दी. पीडि़त के मुताबिक झगडे से बचने के लिए उन्होंने यह भी कहा कि जिससे भैंस खरीदी है कल उसे वापिस कर देंगे, लेकिन बावजूद इसके आज सुबह करीब 20 लोगो ने उन पर हमला किया, उन्हें पीटा और भैंस लेकर चले गए।


loading...
SHARE THIS

0 comments: