Tuesday, September 12, 2017

अनुसूचित जाति आयोग के चेयरमैन राम शंकर ने लिया फरीदाबाद का जायजा


फरीदाबाद 12 सितम्बर(abtaknews.com)राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के चेयरमैन डा. (प्रोफैसर) राम शंकर कथेरिया ने आज अनुसूचित जाति वर्ग के लोगों से सम्बन्धित सभी प्रकार की सरकारी योजनाओं, कार्यक्रमों एवं सुविधाओं का जायजा लेने के उद्देश्य से जिले का दौरा किया। इस अवसर पर उनके साथ आयोग के वाइस चेयरमैन एल. मुरूगन भी विशेष रूप से उपस्थित थे। दौरे के दौरान गुरूग्राम एवं फरीदाबाद मण्डलायुक्त डा. डी. सुरेश, उपायुक्त समीरपाल सरो, पुलिस आयुक्त डा. हनीफ कुरैशी, अतिरिक्त उपायुक्त जितेन्द्र दहिया भी उनके साथ प्रमुख रूप से मौजूद रहे। 

सर्वप्रथम चेयरमैन श्री कथेरिया ने स्थानीय सैक्टर-16ए स्थित लोक निर्माण विश्राम गृह (सर्किट हाउस) के सभाकक्ष में अनुसूचित जाति वर्ग के संगठनों से जुड़े पदाधिकारियों, प्रतिनिधियों व सरपंचों से मुलाकात की। इस मौके पर अनुसूचित जाति वर्ग के सरपंचों से सम्बन्धित पंचायतों में बदरौला, सदपुरा, जवां हीरापुर व भनकपुर के सरपंचों ने अपनी दिक्कतें श्री कथेरिया के समक्ष रखीं। इन सरपंचों का कहना था कि उनकी ग्राम पंचायतों में अधिकांश सामान्य जाति से सम्बन्धित पंच ग्राम सभा की बैठकों में अनावश्यक रूप से बाधा डालने की चेष्टा करते हैं जिससे कि सरकारी कार्यों को निपटाने में दिक्कत होती है। डा. बी.आर. अम्बेडकर शिक्षण संस्थान के चेयरमैन एवं दलित अधिकार मंच फरीदाबाद के महासचिव ओ.पी. धामा ने श्री कथेरिया को अनुसूचित जाति वर्ग के विद्यार्थियों के स्कालरशिप सम्बन्धी लम्बित मामलों, पुनस्र्थापन, शिक्षा, सफाई व सुरक्षा आदि की सुविधाओं का लाभ तेजी से दिलवाने की गुजारिश की। इनके अलावा दलित वर्ग की एक अन्य प्रतिनिधि सुनीता केन ने भी समस्याओं बारे अवगत कराया। उक्त सभी प्रकार की समस्याओं को आयोग के स्तर पर निपटाने बारे श्री कथेरिया ने उक्त प्रतिनिधियों को आश्वस्त किया। इस मौके पर श्री कथेरिया के पधारने पर पुलिस गार्द द्वारा उन्हें सम्मान सलामी भी देकर स्वागत किया गया। 

इसके उपरान्त श्री कथेरिया ने सैक्टर-12 स्थित उपायुक्त कार्यालय के सभाकक्ष में गुरूग्राम एवं फरीदाबाद मण्डल के सभी जिलों के आलाधिकारियों के साथ अनुसूचित जाति वर्ग के लोगों के उत्थान के सम्बन्ध में संचालित की जा रही सरकारी योजनाओं, कार्यक्रमों तथा दलित उत्पीडऩ के मामलों की प्रगति बारे समीक्षात्क बैठक ली। इस मौके पर डा. डी. सुरेश, उपायुक्त श्री सरो व पुलिस आयुक्त डा. कुरैशी के अलावा जिला गुरूग्राम, नूहं, पलवल, रेवाड़ी तथा महेन्द्रगढ़ के उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक भी उपस्थित थे। श्री कथेरिया ने मीटिंग में अनुसूचित जाति वर्ग के उत्थान बारे सम्बन्धित विभागों के माध्यम से क्रियान्वित की जा रही योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने एट्रोसिटी से सम्बन्धित मामलों की समीक्षा करते हुए कहा कि दोषी व्यक्तियों को सजा दिलवाने में तथा पीडि़तों को आर्थिक सहायता व न्याय दिलवाने में किसी भी प्रकार की कमी न रहने दी जाये। उन्होंने सभी जिला प्रमुखों को इस सम्बन्ध में आवश्यक दिशा-निर्देश व हिदायतें दी। श्री कथेरिया ने एनआईटी स्थित अरावली गोल्फ कल्ब पर्यटन केन्द्र के सभाकक्ष में आयोजित प्रैस कान्फ्रैंस में जिला के पत्रकारों को सम्बोधित किया। उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति वर्ग के लोगों को सम्बन्धित सुविधाओं का लाभ व हक दिलवाने में उनका आयोग किसी प्रकार की कसर बाकी नहीं रहने देगा। हमारा प्रयास है  कि पीडि़तों को आर्थिक मदद मिले और निंदनीय घटनाओं की पुनरावृति न होने पाये। इसके साथ-साथ दलित समाज के लोगों को भी अपने हक हासिल करने के लिए जागरूक रह कर आगे आने की आवश्यकता है। 

इसके उपरान्त चेयरमैन श्री कथेरिया गत 27 मार्च 2017 को स्थानीय बुढिय़ा नाला क्षेत्र में बसी स्लम बस्ती संतोष नगर में सीवरेज सफाई करते हताहत हुए बाल्मिकी समाज के तीन पुरूषों की विधवाओं से मिलने पहुंचे। उन्होंने कहा कि सम्बन्धित ठेकेदार द्वारा इन्हें मुआवजे के तौर पर दी गई दस-दस लाख रूपये की राशि के अलावा नियमानुसार सरकार की ओर से भी दस-दस लाख रूपये की राशि और देय बनती है, जिसे उपायुक्त एवं नगर निगमायुक्त श्री सरो तुरन्त रिलीज करवायें। उन्होंने तीनों विधवाओं के लिए पांच-पांच हजार रूपये मासिक पैंशन बनाकर अगले महीने से ही शुरू करवाने के लिए निगम के मुख्य अभियन्ता डी.आर. भास्कर को सख्त आदेश दिए। उन्होंने इस स्लम बस्ती में बिजली, पानी सडक़, शिक्षा, सफाई तथा सामुदायिक भवन की सुविधा सुनिश्चित करने बारे भी सम्बन्धित अधिकारियों को आदेश दिए। चेयरमैन श्री कथेरिया के उक्त पूरे दौरा कार्यक्रम के ंअन्तर्गत जिला के सभी सम्बन्धित विभागों के अधिकारी भी उपस्थित थे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: