Tuesday, September 26, 2017

तिगांव में डिलीवरी के दौरान जच्चा-बच्चा की मौत पर गुस्साए विधायक ललित नागर


फरीदाबाद(abtaknews.com ) तिगांव के सीएचसी केंद्र में डॉक्टरों की अनुपस्थिति के चलते डिलीवरी के दौरान एक गर्भवती महिला व उसके नवजात बच्चे की दर्दनाक मौत हो गई। डिलीवरी के लिए आई महिला को सीएचसी केंद्र में कोई डाक्टर उपलब्ध नहीं हुआ, जिसके चलते वहां मौजूद दो नर्साे एवं एक युवक ने महिला की जबरन डिलीवरी का प्रयास किया, जिससे जच्चा-बच्चा की मौत हो गई। महिला की मौत की जानकारी जैसे ही आला अधिकारियों को मिली तो उन्होंने मृतका के पति से मिलकर मामले को रफा-दफा करने का प्रयास किया परंतु तिगांव क्षेत्र के कांगे्रसी विधायक ललित नागर के हस्तक्षेप के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया और जिले के स्वास्थ्य विभाग में हडक़म्प मच गया। श्री नागर स्वयं बादशाह अस्पताल पहुंचे, जहां उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को जमकर लताड़ते हुए कहा कि अगर वह तिगांव के सीएचसी में पार्किंग में जन्मे बच्चे के मामले को गंभीरता से ले लेते तो आज यह घटना नहीं होती परंतु सीएचसी केंद्र के स्टाफ की लापरवाही से जच्चा-बच्चा की मौत हो गई। उन्होंने इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच करवाने एवं दोषी डाक्टरों के खिलाफ कार्यवाही करने और पीडि़त के परिजनों को उचित मुआवजा दिए जाने की मांग की। प्राप्त जानकारी के अनुसार रायपुर कलां निवासी श्रवण कौर पत्नी गुरदयाल को आज सुबह प्रसव पीड़ा होने के चलते सुबह 9.30 बजे तिगांव स्थित सीएचसी केंद्र में लाया गया, उस दौरान वहां कोई महिला डाक्टर मौजूद नहीं थी बल्कि दो नर्स एवं एक वार्ड ब्याव थे, जिन्होनें डाक्टर को बुलाने की बजाए स्वयं महिला की डिलीवरी करनी शुरु कर दी। देखते ही देखते महिला दर्द से कराहती रही और कुछ ही देर में जच्चा और बच्चा की मौत हो गई। मामले को छुपाने के लिए स्टाफ के सदस्यों ने गुरदयाल से कपड़े लाने को कहा। कुछ देर बाद जब महिला श्रवण कौर के परिजनों को उसकी मौत की सूचना मिली तो उन्होंने हंगामा करना शुरु कर दिया, इस पर स्टाफ में खलबली मच गई और उन्होंने इस मामले की जानकारी आला चिकित्सा अधिकारियों को दी और मृतक महिला के शव को बादशाह खान अस्पताल भेज दिया। मामले की सूचना मिलते ही क्षेत्रीय विधायक ललित नागर भी अस्पताल पहुंचे, जहां उन्होंने मृतक महिला के परिजनों से पूरे मामले की जानकारी ली और सीएमओ को मौके पर बुलाकर इस लापरवाही के लिए जमकर लताड़ते हुए कहा कि दो माह पूर्व भी इसी सीएचसी एक महिला की डिलीवरी गेट पर ही हुई थी, जिसको लेकर उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को सारी स्थिति से अवगत करवाया था और उस समय भी आपने स्वयं जांच कमेटी बिठाई थी, लेकिन उस मामले में भी आज तक दोषी कर्मचारियों के खिलाफ कोई सख्त कार्यवाही अमल में नहीं लाई गई है। अगर आपके द्वारा पूर्व में ही साख्ती दिखाई जाती तो आज यह मामला नहीं दोहराया जाता वहीं उन्होंने मौके पर ही तिगांव के थाना प्रभारी को फोन मिलाकर स्पष्ट शब्दों में कहा कि इस मामले में पूरी तरह से तिगांव सरकारी अस्पताल के स्टाफ की लापरवाही है इसलिए तुरंत सभी दोषियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके सख्त से सख्त कार्यवाही की जाए। उन्होंने सीएमओ गुलशन राय को स्पष्ट कहा कि अगर इस मामले में कार्यवाही नहीं हुई तो वह इस मामले को पुरजोर तरीके से विधानसभा में उठाने का काम करेंगे। सीएमओ गुलशन राय ने विधायक को आश्वस्त किया कि मामले में एक तीन सदस्यीय जांच समिति का गठन किया जा रहा है तथा समिति की जांच रिपोर्ट आने पर सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी।



loading...
SHARE THIS

0 comments: