Friday, September 29, 2017

शहीदे आजम भगत सिंह के जन्मदिवस पर भारतीय पंचनद सेना के पदाधिकारी हवन यज्ञ


फरीदाबाद(abtaknews.com ) शहीदे आजम भगत सिंह के जन्मदिवस पर भारतीय पंचनद सेना द्वारा एनआईटी पांच स्थित स्थापित प्रतिमा पर हवनयज्ञ कर माल्यापर्ण किया। इस हवन यज्ञ में बढख़ल विधानसभा क्षेत्र की विधायक श्रीमती सीमा त्रिखा ने भी हिस्सा लेकर आहूति डाली। इस अवसर पर सेना के सरपरस्त विष्णू सूद, चुन्नी लाल चोपडा, विनोदकांत वासुदेव, चेयरमैन प्रेम दीवान, जिलाध्यक्ष टेकचंद नंद्राजोग  (टोनी पहलवान), उपाध्यक्ष राकेश मार्या, महिला जिलाध्यक्ष जगजीत कौर पन्नू, महासचिव रश्मिन कौर चड्डा, एनआईटी प्रधान मंजु गुलाटी मुख्य रूप से उपस्थित थे।  इस मौके पर बुद्ध सिंह शास्त्री द्वारा हवन यज्ञ का आयोजन किया गया।

इस मौके पर विधायक श्रीमती सीमा त्रिखा ने कहा कि आज शहीदे-आजम के नाम से मशहूर भगत सिंह की 110वीं जयंती है।  शहीदे आजम भगत सिंह ने बहुत कम आयु में इंकलाब का नारा बुलंद करते हुए ब्रिटिश हुकूमत की नाक में दम कर दिया था। उन्होंने अंग्रेजो को इस देश से निकालने में अपनी अहम भूमिका निभाई जिसे देश भूल नहीं सकता।

इस अवसर पर जिलाध्यक्ष टेकचंद नंद्राजोग  (टोनी पहलवान) ने कहा कि अमृतसर में 13 अप्रैल 1919 को हुए जलियाँवाला बाग हत्याकाण्ड ने भगत सिंह की सोच पर गहरा प्रभाव डाला था। हालांकि इस समय भगत सिंह की उम्र केवल 12 साल थी। इस हत्याकांड की खबर मिलते हीं वे अपने स्कूल से 12 मील पैदल चलकर जलियाँवाला बाग पहुँच गए थे। वे 14 वर्ष की आयु से ही क्रान्तिकारी समूहों से जुडने लगे। लाहौर के नेशनल कॉलेज़ की पढ़ाई छोडक़र भगत सिंह ने भारत की आज़ादी के लिये नौजवान भारत सभा की स्थापना की। जिसे देश ही नहीं विदेशो में भी जाना जाता है। 

इस अवसर पर उपस्थितजनों ने अपने अपने सम्बोधन में शहीदे आजम भगत सिंह को याद किया।  इस अवसर पर पार्षद जसंवत सिंह, फरीदाबाद वेलफेयर एसोसिएशन प्रधान रविन्द्र बतरा, सुरजीत नागर, अनिल अरोडा, सुरेन्द्र सिंह सांगा, पवन खन्ना, सर्वजीत सिंह चौहान, स. मन्नु सिंह, स. रंजीत सिंह राणा, संजीव कैथ, देवेन्द्र तनेजा सहित अन्य युवा उपस्थित थे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: