Wednesday, September 6, 2017

विद्यार्थियों ने सीखा- आपात स्थिति में कैसे बचाये जीवन


फरीदाबाद, 6 सितम्बर(abtaknews.com)प्राथमिक चिकित्सा तथा जीवनरक्षक उपायों से संबंधित जानकारी एवं ज्ञानवर्धन के लिए वाईएमसीए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, फरीदाबाद द्वारा बेसिक लाइफ सपोर्ट पर एक व्याख्यान का आयोजन किया गया। इस सत्र को विश्वविद्यालय के स्वास्थ्य केन्द्र द्वारा आयोजित किया गया था।कार्यक्रम में अपोलो क्लीनिक, फरीदाबाद से डॉ. क्रिस्टोफर आमंत्रित वक्ता रहे। उन्होंने बेसिक लाइफ सपोर्ट को लेकर अपना अनुभव साझा किया तथा विद्यार्थियों का ज्ञानवर्धन किया। कार्यक्रम में कुलपति प्रो. दिनेश कुमार भी शामिल हुए तथा उन्होंन स्वास्थ्य केन्द्र द्वारा बेसिक लाइफ सपोर्ट के प्रति जागरूकता को लेकर स्वास्थ्य केन्द्र के प्रयासों की सराहना की।
उन्होंने कार्डियोपल्मोनरी रिसासिटेशन के अभ्यासक्रम की जानकारी दी तथा आपात स्थिति में रोगी को कार्डियोपल्मोनरी रिसासिटेशन प्रदान करने की तकनीकों के बारे में बताया। कार्डियोपल्मोनरी रिसासिटेशन एक अपातकालीन प्रक्रिया है जो हृदय अघात की स्थिति में रोगी को दी जाती है, जिसमें रोगी को कृत्रिम श्वास दी जाती है तथा छाती बार-बार दबाया जाता है।विश्वविद्यालय के स्वास्थ्य केन्द्र में चिकित्सा अधिकारी डॉ. अंकुर शर्मा ने विद्यार्थियों को बेसिक लाइफ सपोट तकनीक के अभ्यासक्रम को प्रदर्शन के माध्यम से सिखाया। डॉ. शर्मा ने विद्यार्थियों द्वारा कार्डियोपल्मोनरी रिसासिटेशन तकनीक की व्यवहारिकताओं से संबंधित पूछे गये प्रश्नों का उत्तर भी दिया।

loading...
SHARE THIS

0 comments: