Saturday, September 30, 2017

रेखा में रहे सीमा,परंपराओं को मत लांघो, त्योहारों में राजनीती ठीक नहीं ;- मनोहर लाल खट्टर


फरीदाबाद (abtaknews.com) 30 सितंबर,2017; मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर  आज शाम चार बजे फरीदाबाद में दशहरा ग्राउंड पहुंचे और दीप प्रज्वलित कर श्रीराम के उद्घोष से अपना सम्बोधन शुरू किया।  उन्होंने कहा की आज उन्हें करनाल भी जाना है लेकिन यहाँ के निमंत्रण मिलने पर वह फरीदाबाद पहुंचे है. अपने सम्बोधन में उन्होंने कहा की देश की एकता अखण्डता को मजबूत काटने के लिए धार्मिक उत्सव होते है और दशहरा के मौके पर हम भगवान राम की मर्यादाओ को याद करते है क्योंकि भगवान राम ने हर बात के लिए मर्यादाये तय की थी. उन्होंने कहा की बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है दशहरा और हमारा आपस में भाईचारा बना रहे । उन्होंने कहा जहाँ रावण अहंकार और बुराई का प्रतीक है और इस दिन हम इन बुराइयों को खत्म करने का संकल्प करते है. इसके अलावा उन्होंने कहा की हम कन्या भ्रण हत्या , करप्शन , गंदगी को दूर करने का भी संकल्प ले. आने वाली 2 अक्टूबर को लेकर उन्होंने प्रधानमंत्री के सफाई अभियान का भी जिक्र किया और सफाई के लिए संकल्प लेने की अपील की. उन्होंने कहा की पहले हमारी आदते खराव थी कही भी गंदगी फेंक देते थे , खुले में शौच करते थे पर अब माहौल बदला है । सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा की हरियाणा पहला राज्य है जहां ग्रामीण और शहरी दोनों इलाके खुले में शौच मुक्त है. इस मौके पर उन्होंने दशहरा मैदान के विकास के लिए डेढ़ करोड़ के अनुदान की घोषणा की। 


मुख्य मंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा छोड़े गए तीर रावण को तो नहीं लगे बल्कि कई नेताओं को  घायल जरूर कर गए क्योकि मुख्य मंत्री निर्धारित समय से पहले पहुंच गए।  दशरा उत्सव के उद्घाटन की औपचारिकता कर अपने व्यस्त कार्यक्रम के चलते  जल्दी चले गए।  रावण शाम को ही जला।  इस अवसर पर केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर, हरियाणा के कैबिनेट मिनिस्टर विपुल गोयल,विधायक सीमा त्रिखा,  विधायक नगेंद्र भड़ाना, विधायक टेकचंद शर्मा, भाजपा जिला अध्यक्ष गोपाल शर्मा, चेयरमैन अजय गौड़, पूर्व भाजपा विधायक चंद्र भाटिया, वरिष्ठ महिला नेत्री डॉ राधा नरूला, पीर जगन्नाथ, जिला उपायुक्त समीर पाल सरो एवं अन्य अधिकारी मौजूद थे।  


loading...
SHARE THIS

0 comments: