Saturday, September 16, 2017

वाईएमसीए विश्वविद्यालय के 9वें स्थापना दिवस पर उद्योगमंत्री विपुल गोयल ने काटा केक

फरीदाबाद, 16 सितम्बर - हरियाणा के उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री श्री विपुल गोयल ने विद्यार्थियों से आह्वान किया कि देश व प्रदेश में चल रहे डिजिटाइजेशन की पहुंच प्रत्येक क्षेत्र तक पहुंचाने के लिए विद्यार्थी अहम भूमिका निभाये। उद्योग मंत्री आज यहां वाईएमसीए विश्वविद्यालय के 9वें संस्थापना दिवस समारोह को संबोधित कर रहे थे। समारोह की अध्यक्षता कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने की। कॉरपोरेट मंत्रालय के निदेशक श्री अनिल भारद्वाज तथा भारती एयरटेल के चीफ रेगुलेटरी ऑफिसर रवि गांधी विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थे। इससे पूर्व श्री विपुल गोयल ने विश्वविद्यालय में प्री-फेब्रीकेटिड तकनीक से निर्मित भवनों का उद्घाटन किया। इन भवनों को 87 लाख रुपये की लागत से तीन माह की रिकार्ड अवधि में तैयार किया गया है। इस तकनीक का इस्तेमाल पहली बार किसी शिक्षण संस्थान में भवन निर्माण के लिए किया गया है। इस अवसर पर उन्होंने विश्वविद्यालय परिसर में पौधारोपण किया तथा विश्वविद्यालय में 25 वर्षों की सेवा पूरी कर चुके कर्मचारियों को सम्मानित किया। उद्योग मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा हरियाणा उद्यमी प्रोत्साहन बोर्ड की स्थापना की गई है, जहां पर उद्यमियों और स्टार्ट-अप के लिए सभी प्रकार की अनुमति समयबद्ध रूप से करने का प्रावधान किया गया है। सरकार द्वारा गुडग़ांव में आयोजित पहली डिजिटल समिट का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार नागरिक सेवाओं की उपलब्धता को सुगम बनाने के दृष्टिगत प्रत्येक क्षेत्र में डिजिटलाइजेशन को बढ़ावा दे रही है, जिससे भ्रष्टाचार पर अंकुश लगेगा। उन्होंने वाईएमसीए के विद्यार्थी राज्य सरकार की मुहिम में अपना अहम योगदान दे सकते है। उन्होंने कहा कि वाईएमसीए प्रदेश का एक प्रतिष्ठित संस्थान है और किसी भी विद्यार्थी के लिए इस संस्थान का हिस्सा होना गर्व की बात है। श्री गोयल ने कहा कि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. दिनेश कुमार की सोच दूरदर्शी है, जिसकी बदौलत विश्वविद्यालय ने विगत दो वर्षों में काफी तेजी से प्रगति की है। उन्होंने विश्वविद्यालय द्वारा चलाये जा रहे कार्यक्रमों की सराहना की।  कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने कहा कि किसी भी संस्थान के लिए संस्थापना दिवय पुराने दिनों को याद करने तथा भविष्य की योजनाओं के लिए आत्म मंथन का दिन होता है। विश्वविद्यालय भी आने वाले दिनों के लिए अहम योजनाओं पर काम कर रहा है, जिसमें विद्यार्थियों की क्षमता को पांच हजार तक ले जाने तथा नये एडवांस पाठ्यक्रम शुरू करना शामिल है। विपुल गोयल ने विद्यार्थियों द्वारा प्रदर्शित फोटो प्रदर्शनी तथा प्रोजेक्ट्स का अवलोकन किया। विद्यार्थियों द्वारा बनाये गये आल टेरेन व्हीकल को भी इस अवसर पर प्रदर्शित किया गया। समारोह के दौरान विश्वविद्यालय पर आधारित एक डाक्युमेंटरी प्रदर्शित की गई तथा विद्यार्थी क्लबों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। उद्योग मंत्री द्वारा विश्वविद्यालय में 25 वर्षों की सेवा पूरी कर चुके जिन कर्मचारियों को सम्मानित किया गया, उनमें दो प्रोफेसर डॉ तिलक राज व डॉ. एम एल अग्रवाल, एक सहायक प्रोफेसर डॉ. पूनम सिंघल, दो वरिष्ठ अनुदेशक श्री धर्मवीर व मुकेश कुमार, एचओएस विकास कुमार, सहायक सतपाल व दिनेश अरोड़ा, क्लर्क शिवराज, हेल्पर अटेंडेंट पप्पी कुमार तथा ईश्वरी देवी शामिल रहे। इस अवसर पर कुलपति श्री प्रो. दिनेश कुमार ने उद्योग मंत्री स्मृति चिन्ह प्रदान किया तथा उनकी उपस्थिति में विश्वविद्यालय की सालगिरह का केट काटा गया। कार्यक्रम का संचालन अधिष्ठाता छात्र कल्याण डॉ. नरेश चौहान तथा डॉ. सोनिया बंसल की देखरेख में किया गया।


loading...
SHARE THIS

0 comments: