Saturday, September 16, 2017

निगम के 155 कच्चे कर्मचारियों को केबिनेट मंत्री ने सौपे नियुक्ति पत्र


फरीदाबाद 16 सितंबर। पिछले बीस साल से जायदा लम्बे समय से अपनी नौकरी के लिए केस लड़ रहे नगर निगम के 155 कच्चे कर्मचारियों को आखिरकार बड़ी राहत मिली जब केबिनेट मंत्री विपुल गोयल ने इन कर्मचारियों को नियुक्ति पत्र सौपे। फरीदाबाद के सेक्टर 12 स्थित हुड्डा कन्वेंशन हॉल में नगर निगम कर्मचारी संघ संबंधित ( भारतीय मजदूर संघ ) द्वारा कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। जहाँ केबिनेट मंत्री ने इन कर्मचारियों को नियुक्ति पत्र सौपे। इस मौके पर केबिनेट मंत्री ने सभी कर्मचारियों को बधाई देते हुए लम्बी लड़ाई लडऩे पर उनके जज्बे को सलाम किया। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री ने कहा की अगले एक साल में फरीदाबाद को स्वछ्तम शहर बनाएंगे और इसे स्मार्ट सिटी बनाने में सरकार हर साधन और ढांचागत सुविधाएं उपलब्ध करवाएगी। फरीदाबाद के सेक्टर 12 स्थित हुडा कन्वेंशन हॉल में नगर निगम के 155 कच्चे कर्मचारियों को केबिनेट मंत्री विपुल गोयल ने नियुक्ति पत्र सौपे। गौरतलब है की पिछले बीस साल से जायदा लम्बे समय से नगर निगम के 155 कच्चे कर्मचारी अपनी नौकरी के लिए केस लड़ रहे थे और अब आखिरकार उनकी जीत हुई और फरीदाबाद के सेक्टर 12 स्थित हुड्डा कन्वेंशन हॉल में नगर निगम कर्मचारी संघ संबंधित ( भारतीय मजदूर संघ ) द्वारा आयोजित कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्री ने इन कर्मचारियों को नियुक्ति पत्र सौपे।इस मौके पर केबिनेट मंत्री ने सभी कर्मचारियों को बधाई देते हुए लम्बी लड़ाई लडऩे पर उनके जज्बे को सलाम किया। उन्होंने बताया की यह कर्मचारी लम्बे समय से अपनी नियुक्ति को लेकर लड़ाई लड़ रहे थे और आखिरकार मुख्यमंत्री के प्रयासों से इन्हे आज नियुक्ति पत्र दिए गए है. उन्होंने जहाँ मुख्यमंत्री का धन्यवाद किया वहीँ कर्मचारियों को भी बधाई दी. पत्रकारों से बातचीत करते हुए केबिनेट मंत्री ने कहा की अगले एक साल में फरीदाबाद को स्वछ्तम शहर बनाएंगे और इसे स्मार्ट सिटी बनाने में सरकार हर साधन और ढांचागत सुविधाएं उपलब्ध करवाएगी। उन्होंने कहा की सरकार ने फरीदाबाद को स्मार्ट सिटी घोषित किया है लेकिन अकेले सरकार के बल पर यह शहर स्मार्ट नहीं बन सकता इसके लिए एक जन आंदोलन चलाना पडेगा जिसमे प्रत्येक नागरिक को एक ब्रांड अम्बेस्डर के रूप में अपना योगदान देना होगा। इस अवसर पर भारतीय मजदूर संघ के महामंत्री ने कहा की बीस साल से जायदा लम्बी लड़ाई लड़ते - लड़ते मजदूर कर्मचारी परेशान हो गए थे और आखिरकार बीजेपी की सरकार में उन्हें नियुक्तिपत्र प्राप्त हुए है. उन्होंने अफ़सोस जाहिर करते हुए कहा की कई कर्मचारी ऐसे है जो अगले दो साल में रिटायर हो जाएंगे। वहीँ नियुक्तिपत्र पाकर कर्मचारियों की ख़ुशी का ठिकाना नहीं था उनका कहना था की हम गरीबो को आखिरकार नियुक्तिपत्र मिल ही गए है और हम खुश है. जिसके लिए हम सरकार का धन्यवाद करते है। अब हम अपनी डियूटी ज्वाइन करेंगे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: