Wednesday, August 9, 2017

इंडियन ऑयल द्वारा पैट्रोलियम अपशिष्ट का प्रबन्ध कैसे करें विषय पर कार्यशाला

Workshop-by-indian-oil-faridabad

फरीदाबाद, 9 अगस्त,2017(abtaknews.com) इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन आर एण्ड डी फरीदाबाद द्वारा फरीदाबाद इण्डस्ट्रीज एसोसियेशन के सहयोग से आज यहां स्थानीय सैक्टर-21सी स्थित होटल पार्क प्लाजा के सभागार में पैट्रोलियम अपशिष्ट का प्रबन्ध कैसे करें विषय पर कार्यशाला आयोजित की गई। इस मौके पर उपायुक्त समीरपाल सरों ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की। संस्थान के निदेशक एस.एस.वी. रामाकुमार ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। उपायुक्त श्री सरो ने कहा कि आज के समय में पर्यावरण की सुरक्षा करना, प्रदूषण को नियन्त्रित रखना तथा पैट्रोलियम पदार्थों का संरक्षण करना जनहित में एक अत्यन्त आवश्यक कार्य है। खुशी की बात है कि गत 15 से 31 जुलाई 2017 के बीच इंडियन ऑयल संस्थान द्वारा पूरे देश में स्वच्छता अभियान पखवाड़ा पूरे जोश व उत्साहपूर्वक मनाया गया। जिले में इस कार्यक्रम को सफलतापूर्वक आयोजित करने के लिए यह संस्थान आभार व बधाई का पात्र है। उन्होंने कहा कि बायोमिथेनेशन जैविक कचरे का अवायवीय पाचन है। जैसे घर और औद्योगिक कचरे का जैविक अंश व एम.एस.डबल्यू. तथा रसोई का कचरा आदि होते हैं। इस तकनीक से न सिर्फ अवांछनीय हानिकारक कचरे को नष्ट करने में मदद मिलती है बल्कि कच्चे तेल के घट रहे संसाधन के तौर पर भी बायोमिथेन व बायोगैस को अच्छा स्रोत माना जाता है। श्री सरो ने कहा कि संस्थान द्वारा पैट्रोलियम की नई तकनीक बढ़ाने तथा इसके संरक्षण की दिशा में सफलतापूर्वक प्रयास अमल में लाना सराहनीय कदम है। डा. एस.एस.वी. रामाकुमार ने कहा कि उनके संस्थान की बायोमिथेनेशन तकनीक ने अब तक कई अवार्ड जीते हैं और देश में बड़े स्तर पर यह तकनीक प्रयोग में लाई जा रही है। हाल ही में चैनई में तेल फैलने के दौरान भी इसी तकनीक का प्रयोग किया गया था। तैलीय स्लज के लिए कचरा प्रबन्धन के सभी उपलब्ध तरीकों में से बायोरेमैडिएशन एक पर्यावरण हितैषी व आर्थिक रूप से व्यावहारिक विकल्प है क्योंकि यह तकनीक विशेष तरह के माइक्रोब्स का इस्तेमाल करती है जो कि हाईड्रो कार्बन खत्म कर देता है। संस्थान के विशेषज्ञ एवं आर.एण्ड डी. इकाई के वरिष्ठ कार्यकारी सदस्य एस.पी. मजूमदार ने कहा कि उनका संस्थान अपने पूरी हाईड्रोकार्बन वैल्यू चेन में अपने पैर फैलाने के व्यापारिक हित के साथ भारत की प्रमुख महारत्न राष्ट्रीय तेल कम्पनी है। रिफाइनिंग, पाईपलाइन परिवहन, व पैट्रोलियम उत्पादों की मार्कीटिंग से लेकर शोध एवं विकास अन्वेषण एवं उत्पादन, प्राकृतिक गैस और पैट्रोलियम की मार्कीटिंग में इंडियन ऑयल ने प्रतिष्ठित फॉर्चून ग्लोबल-500 की साल 2017 की सूची में दुनिया के बड़े कारपोरेट्स में 168वां स्थान हासिल किया तथा भारतीय उद्यमों के बीच पहला स्थान प्राप्त कर सर्वोच्च कामयाबी हासिल की। संस्थान की वरिष्ठ अधिकारी निशी खुराना ने मुख्य अतिथि श्री सरों का आभार प्रकट करते हुए कहा कि उनका संस्थान सैक्टर-13 फरीदाबाद में लगभग 65 एकड़ के हरे-भरे परिसर में फैला हुआ है। संस्थान द्वारा पैट्रोलियम पदार्थों की सर्वोच्च अनुसंधान तकनीक के साथ-साथ जिले में पर्यावरण की सुरक्षा, प्रदूषण नियन्त्रण तथा जनहित के क्षेत्र में जिला प्रशासन के साथ बढ़-चढ़ कर योगदान देने का प्रयास किया जाता है। निदेशक डा. रामा कुमार ने उपायुक्त श्री सरो को स्मृति चिन्ह स्वरूप पौधा भेंट करके सम्मानित किया। इस अवसर पर भाजपा के जिलाध्यक्ष एडवोकेट गोपाल शर्मा, एफ.आई.ए. के प्रधान संजीव खेमका, लघु उद्योग भारती की फरीदाबाद इकाई के प्रधान अरूण बजाज, फरीदाबाद लघु उद्योग संगठन के प्रधान जी.एस. त्यागी, डीएलएफ इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के प्रधान जे.पी. मल्होत्रा, उद्यमी, बी.आर. भाटिया, आर.पी. हंस, राजकुमार अग्रवाल, व राकेश गुप्ता, नगर निगम के बल्लबगढ़ जोन के संयुक्तायुक्त अमरदीप जैन सहित कई अन्य सम्बन्धित अधिकारी, संस्थान के पदाधिकारी एवं गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: