Monday, August 21, 2017

गैंग ने मारी थी गोली,चार महीने बाद हुई मौत , परिजनों ने अस्पताल में की तोडफ़ोड़



फरीदाबाद 21 अगस्त(abtaknews.com )फरीदाबाद में मोस्टवांटिड अपराधी सतपाल मुजेड़ी के  गैंग द्वारा बल्लभगढ़ के मुंजेड़ी गांव में युवक को मारी गई गोली के बाद आज उपचाराधीन मनीष की अस्पताल में मौत हो गई। युवक की मौत से गुस्साए लोगों ने अस्पताल में जमकर तोडफ़ोड़ की और पुलिस पर इस मामले में लापरवाही बरते जाने का आरोप लगाया। ग्रामीणों ने पुलिस पर बदमाशों के साथ मिले होने का भी आरोप लगाया। फिलहाल पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है और मोस्टवांटिड अपराधी सतपाल मुजेड़ी सहित उसके साथियों की तलाश शुरू कर दी है। दरअसल 14 मार्च को मुंजेड़ी गांव में रहने वाले मनीष को गांव के सतपाल, भवर सिंह, सहित 10 लोगों ने अपने पास बुला कर गोली मार दी थी। तभी से मरीज अस्पताल में उपचाराधीन था। आज घायल ने दम तोड़ दिया जिसके बाद पीडि़त परिजनों ने इस मामले की शिकायत पुलिस को दे दी। लेकिन जब सूचना देने के घंटों बाद भी पुलिस अस्पताल में नहीं पहुंची और अस्पताल प्रशासन ने पोस्टमार्टम कराने के लिए शव को रवाना नहीं किया तो लोगों का गुस्सा भडक़ गया और लोगों ने अस्पताल में तोडफ़ोड़ शुरू कर दी। मृतक मनीष के चाचा संजय की माने तो इस मामले में 10 लोगों ने अपने घर पर बुलाकर मनीष को गोली मारी थी।पुलिस ने इस संबंध में सभी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया था। लेकिन चार आरोपी ऐसे थे जिन्हें पुलिस बेकसूर बता रही थी और गिरफ्तार नहीं कर रही थी।  आज मनीष की जब मौत हो गई तो उन्होंने पुलिस को सूचित कर दिया लेकिन तीन-चार घंटे बाद भी जब पुलिस नहीं आई और अस्पताल ने शव को अपने यहां से रवाना नहीं किया तो इस पर लोगों का गुस्सा भडक़ गया और उन्होंने अस्पताल में तोडफ़ोड़ कर दी। वहीं पुलिस का कहना था कि मनीष की मौत के बाद सभी आरोपियों के खिलाफ हत्या की धारा 302 के तहत मामला दर्ज कर लिया है।  पुलिस के मुताबिक इस मामले मैं पहले 10 लोगो के खिलाफ मामला दर्ज हुआ था जिनमें से 4 की गिरफ्तारी अभी बाकी है ।

loading...
SHARE THIS

0 comments: