Saturday, August 26, 2017

केकई व मंथरा संवादो और राक्षसों के राक्षसी गीत का किया अभ्यास


फरीदाबाद 26 अगस्त(abtaknews.com)श्री धार्मिक लीला कमेटी 5 नम्बर एम ब्लाक में आज केकई और मंथरा के संवादों का अभ्यास किया गया । र्निदेशक हरीश चन्द्र आज़ाद ने बताया कि कैसे राम को सबसे ज्यादा प्यार करने वाली माता केकई मंथरा की भडक़ाने वाली बातों में आ जाती है इस सीन के लिये दोनो कलाकारों ने कड़ी मेहनत की केकई का रोल निभा रहे दिवांकर जो कि पहली बार रामलीला के मंच पर रोल कर रहे हैं लेकिन र्निदेशक का यही काम होता है कि अपने अनुभव से नये कलाकार को एक सम्पूर्ण कलाकार की तरह मंच पर पेश करे और इसके लिये दिवांकर भी मेहनत कर रहा है और मंथरा का रोल निभा रहे मनीश एक बेहतरीन कलाकार है उनकी काँपती आवाज़ और लडखड़ाते बोल उसके अभिनय में चार चाँद लगाते हैं । आज़ाद ने बताया कि आज राक्षसों के राक्षसी गीत पर भी कलाकारों ने अभ्यास किया अजब यह वन सुहाना है हाहा हा गीत दर्शाके को डरायेगा भी और हंसायेगा भी इस गीत पर कलाकरों ने बहुत मेहनत की ।
र्निदेशक हरीश चन्द्र आज़ाद ने बताया कि हर बार की तरह भविष्य के कलाकार तैयार करने के लिये प्रत्येक दिन बाल कलाकार भी एक एक सीन करेगें । इसलिये आज बाल कलाकारों ने भी अपने अपने रोल का अभ्यास किया ।

loading...
SHARE THIS

0 comments: