Thursday, August 3, 2017

फरीदाबाद में चुटिया कटने से दहशत में लोग ,बचने के लिए अपना रहे टोने टोटके




फरीदाबाद (abtaknews.com) चुटिया कटने के मामलों ने लोगों को दहशत में डाल दिया है। रोजाना एक के बाद एक घटने वाली उक्त घटनाओं ने महिलाओं के साथ साथ पुरुषों की भी नींद उड़ा दी है। लोग अब चोटी काटने वाले को भूत और चुड़ैल का नाम दे रहे है। इस भूत और चुड़ैल से बचने के लिए लोगों ने अब अपने घर के बाहर नींबू, हरीमिर्च ,लहसुन ,प्याज और नीम के पेड़ की डाली लगा ली है। वहीँ घरों के बाहर मेहँदी ,हल्दी और काली स्याही के छापे भी लगाने शुरू कर दिए हैं। 

घर के बाहर या दुकान के बाहर आपने अक्सर नीबू और हरी मिर्च टांगे देखा होगा। इसके पीछे  उनका मानना होता है की ऐसा करने से  उनके ऊपर शनि की कुदृष्टि नहीं पड़ती। लेकिन अब महिलाओ के लगातार बाल कटने की घटना से महीलायें ही नहीं उनका पूरा परिवार दहशत में है। जिससे बचने के लिए अब वह घर के बाहर नींबू ,हरी मिर्च,लहसुन ,प्याज आदि टांगने लगे है। ऐसा करने वाले लोगो की माने तो लगातार महिलाओ और बच्चियों के चोटियाँ कट रही है।  जिससे लोगो में भय बना हुआ है यह नजारा आजकल फरीदाबाद के घरों के बाहर देखा जा सकता है। इसके अलावा मेहदी के छापे भी लोग अपने घरों के बाहर लगा रहे हैं।इतना ही नहीं लोग इस अप्रिय घटना से बचने के लिए घर के बाहर नीम की टहनियों को भी टांग रहे है।  ऐसा लोग इसलिए कर रहे हैं, क्योंकि उनके अंदर यह भय पैदा हो गया है कि चोटी काटने  वाला कोई और नहीं बल्कि कोई भूत या चुड़ैल है। और ऐसा करने से उनके घरों के बाहर कोई भूत प्रेत या चुड़ैल  प्रवेश नहीं कर पाएगी।  फरीदाबाद में रहने वाली अफसाना  की मानें तो भूतनी से छुटकारा पाने के लिए उन्होंने ऐसा किया है। क्योकि चारो तरफ चुटिया काटने वाले भूत और चढेल का हल्ला हो रहा है| 

अफसाना ने अबतक न्यूज़ पोर्टल टीम को बताया कि अब रात को उन्हें नींद भी नहीं आती रात को बच्चे भी चिपटकर सोते हैं। बच्चों का ज्यादा बुरा हाल है। लेकिन नीम के पेड़ की डाली और नींबू लगाने से उनके घर में कोई बुरी आत्मा नहीं आ पाएगी| केला ने बताया कि हर जगह महिलाओं की चोटी कटने की दहशत है। आज उनके पड़ोस में भी 2 महिलाओं की चोटियां कटी है| कोई बड़ा सा भूत चोटी काटने के बाद धक्का देकर चला जाता है| आशा, गुड्डी और मीना ने मीडिया को बताया कि चुटिया कटने की खबर से हालत बहुत खराब हैं| उन्हें यही दर सताता रहता है कि कोई भूत उनकी चोटी ना काट दे| 



loading...
SHARE THIS

0 comments: