Tuesday, August 15, 2017

वीर सपूतों को न भूलें, उनकी बदौलत हम आजाद हैं - स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य




फरीदाबाद(abtaknews.com)हम आज आजाद भारत में रहते हैं लेकिन यह आजादी हजारों हजार वीर सपूतों के बलिदान से मिली है। हमें उन वीर सपूतों को हमेशा याद रखना चाहिए। यह बात अनंतश्री विभूषित इंद्रप्रस्थ एवं हरियाणा पीठाधीश्वर श्रीमद् जगद्गुरु रामानुजाचार्य स्वामी श्री पुरुषोत्तमाचार्य महाराज ने श्री सिद्धदाता आश्रम स्थित स्वामी सुदर्शनाचार्य वेद वेदांग संस्कृत महाविद्यालय में आयोजित स्वतंत्रता दिवस पर झंडारोहण उपरांत शिक्षकों, छात्रों एवं भक्तों से कही। 

महाविद्यालय के चेयरमैन स्वामी श्री पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज ने 71वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर यहां झंडारोहण कर राष्ट्रगान में भागीदारी की। इस अवसर पर उन्होंने अपने प्रवचन में कहा कि आजादी बड़ी अनमोल विषय है। आजादी के बारे में वह अधिक बता सकता है जिसे गुलामी के बाद आजादी मिली हो। लेकिन हमें हमारे परिजनों ने इस बारे में बताया, हमने इसे इतिहास में पढ़ा और जाना है कि आजादी पाने के लिए हमारे वीर सपूतों ने कितना बलिदान दिया। एक आंकड़े के मुताबिक करीब साढ़े सात लाख लोगों की जान आजादी पाने के लिए कुर्बान हुईं। उन्होंने लोगों से कहा कि वह आजादी के महत्व को समझें। खुद की आजादी को समझें, दूसरे को आजाद रहने दें और देश की समृद्धि के लिए कार्य करें। इस अवसर पर महाविद्यालय के छात्रों ने हिंदी, अंग्रेजी एवं संस्कृत में संभाषण, गीत आदि प्रस्तुत किए। बच्चों ने योगा का भी प्रदर्शन कर लोगों की वाहवाही लूटी। यहां पर महाराजश्री ने सभी शिक्षकों एवं छात्रों को लेखनी और उत्तर पुस्तिका एवं आशीर्वाद प्रदान किया।

loading...
SHARE THIS

0 comments: