Thursday, August 24, 2017

एनएसयूआई और युवा आगाज संगठन ने संयुक्त रुप से मंत्री विपुल गोयल को सौंपा ज्ञापन

फरीदाबाद(abtaknews.com)सेक्टर 16 ए स्थित पंडित जवाहर लाल नेहरू कॉलेज की कंडम हो चुकी बिल्डिंग का पुर्ननिर्माण करने की मांग को लेकर एनएसयूआई और युवा आगाज संगठन के प्रतिनिधियों ने उद्योगमंत्री विपुल गोयल को ज्ञान सौंपा। एनएसयूआई के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रदीप धनखड़ और युवा आगाज संगठन के संयोजक जसवंत सैनी के नेतृत्व में स्टूडेंट्स ने मंत्री को बताया कि पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा कॉलेज की बिल्डिंग को कंडम घोषित किया जा चुका है। इससे यहां पढ़ने वाले स्टूडेंट्स की जान हर समय खतरे में बनी रहती है। दोनों संगठनों की तरफ से इस विषय में बुधवार को केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर को भी ज्ञापन सौंपा गया था।
उद्योगमंत्री विपुल गोयल गुरूवार का पंडित जवाहर लाल नेहरू कॉलेज में आयोजित हो रही स्टेट लेवल इंटर कॉलेज कुश्ती प्रतियोगिता में मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित थे। मौके पर एनएसयूआई व युवा आगाज संगठन ने कॉलेज में २० प्रतिशत सीटें बढ़ाने पर उद्योगमंत्री का आभार व्यक्त किया। मौके पर एनएसयूआई के नेहरू कॉलेज अध्यक्ष सन्नी बादल ने कहा कि पंडित जवाहर लाल नेहरू कॉलेज शहर का सबसे पुराना सरकारी कॉलेज है। इसकी बिल्डिंग भी काफी जर्जर हो गई है। जगह - जगह से लैंटर व दीवारें झड़ना शुरू हो गई हैं। इससे यहां पढ़ने आने वाले स्टूडेंट्स पर हर समय खतरा मंडराता रहता है। हम काफी समय से इस बिल्डिंग के पुर्ननिर्माण कराने की मांग कर रहे हैं, लेकिन अभी तक इस दिशा में कोई कार्रवाई नहीं की गई है। युवा आगाज संगठन के अजय डागर ने बताया कि कॉलेज की बिल्डिंग १९७० के दशक की बनी हुई है और पीडब्ल्यूडी बी एंड आर विभाग द्वारा भी कॉलेज की बिल्डिंग को कंडम घोषित कर दिया है। ऐसे में यहां कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है। कॉलेज में रोजाना हजारों की संख्या में स्टूडेंट्स आते हैं। अगर किसी तरह की कोई अनहौनी होती है तो उन सभी स्टूडेंट्स के लिए खतरा होगा। इसलिए जल्द से जल्द इस बिल्डिंग का रिन्यूवेशन किया जाना चाहिए। मौके पर मंत्री विपुल गोयल ने आश्वासन दिया कि वो इस विषय में जल्द ही ठोस कार्रवाई करेंगे। मौके पर संदीप डागर, सूरज तेवतिया, तरुण, सागर जाखड़, आकाश, मनीष, हिमांशु, बलजीत, आनंद, अनुज भाटी, पवन कश्यप, प्रवीण सिंह आदि मौजूद थे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: