Sunday, August 27, 2017

कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल नैतिकता के आधार पर दें इस्तीफा : लखन सिंगला


फरीदाबाद(abtaknews.com)वरिष्ठ कांग्रेसी नेता लखन कुमार सिंगला ने डेरा सच्चा सौदा प्रमुख संत गुरमीत राम रहीम को पंचकूला की सीबीआई अदालत द्वारा दोषी करार देने के बाद हुई हिंसा में मारे गए 31 लोगों की मौत के लिए भाजपा सरकार को जिम्मेदार करार देते हुए कहा कि सरकार का तंत्र पूरी तरह से असफल साबित रहा है और हरियाणा के उद्योगमंत्री विपुल गोयल सहित कई मंत्रियों की बाबा से नजदीकियों की भी उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए कि वह बार-बार सिरसा जाकर बाबा के चरणों में क्यों नतमस्तक होते थे? उक्त वक्तव्य यहां जारी एक प्रेस बयान में वरिष्ठ कांग्रेसी नेता लखन कुमार सिंगला ने कहा कि पंचकूला की सीबीआई कोर्ट में चल रहे बलात्कार के आरोपी बाबा राम रहीम के साथ बीती


9 अगस्त को प्रदेश के उद्योगमंत्री विपुल गोयल सिरसा पहुंचकर पौधारोपण करते हुए नतमस्तक हो जाते है और उन्हेें पता था कि 25 अगस्त को इस मामले में  फैसला आना है, इसके बावजूद आखिर प्रदेश का एक उच्च औहदे पर विराजमान मंत्री बाबा गुरमीत राम रहीम के सामने क्यों नतमस्तक हुआ, इसकी जांच होनी चाहिए। लखन सिंगला ने उद्योगमंत्री विपुल गोयल पर हमला बोलते हुए कहा कि पूरे प्रदेश में धारा 144 लगी हुई थी, हरियाणा जल रहा था और उद्योगमंत्री गणेश उत्सव के नाम पर न केवल कानून की धज्जियां उड़ा रहे थे, बल्कि इस आगजनी व हिंसा में मारे गए लोगों की मौत का उपहास उड़ा रहे थे। उन्होंने कहा कि यह भाजपा सरकार के तंत्र की असफलता ही है कि आईबी द्वारा सूचना देने और प्रदेश में धारा 144 लगने के बावजूद लाखों लोग पंचकूला अदालत के बाहर जमा हुए और बाबा को दोषी करार देने पर हुडदंग मचाते है और सरकार के मुख्यमंत्री व मंत्री प्रदेश को जलता हुआ देखकर भी चुप रहते है। श्री सिंगला ने कहा कि खट्टर सरकार में कानून व्यवस्था पूरी तरह से फेल हो चुकी है, जाट आंदोलन की बात हो या फिर अब पंचकूला में हुई आगजनी व हिंसा की, इन मामलों से मनोहर लाल की अनुभवहीनता स्पष्ट उजागर हो गई है इसलिए हरियाणा में तुरंत प्रभाव से राष्ट्रपति शासन लागू कर देना चाहिए। श्री सिंगला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मांग करते हुए कहा कि हरियाणा के कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल से तुरंत इस्तीफा लेते हुए बाबा से उनकी नजदिकियों की जांच कराई जाए, जिससे कि लोगों के समक्ष सच्चाई उजागर हो सके।


loading...
SHARE THIS

0 comments: