Friday, August 18, 2017

सीएम सिटी करनाल में हरियाणा कर्मचारी महासंघ 20 अगस्त को करेगा आक्रोश रैली



फरीदाबाद18 अगस्त, 2017(abtaknews.com )माँगें पूरी न होने से क्षुब्ध हरियाणा कर्मचारी महासंघ ने शुक्रवार को जिला महासंघ के अंतर्गत आने वाले कार्यालयों पर बिजली विभाग, तहसील परिसरों, आबकारी एवम् कराधान विभाग, शिक्षा विभाग, जनस्वास्थ्य विभाग, हुड्डा विभाग, हरियाणा रोडवेज, आंगनवाड़ी, आदि सरकारी विभागों का दौरा कर गेट मीटिंग की । मीटिंग में मौजूद कर्मचारियों ने कहा कि सरकार की वायदा खिलाफी के विरोध में 20 अगस्त को सीएम सिटी करनाल के हुड्डा ग्राउन्ड में कर्मचारियों की आक्रोश रैली ऐतिहासिक होगी । मीटिंग की अध्यक्षता कर रहे महासंघ के जिला चेयरमैन सुनील खटाना, ओल्ड व ग्रेटर फरीदाबाद यूनिट के प्रधान लेखराज चौधरी, जिला महासंघ के प्रधान महेन्दर सिंह, सचिव जयसिंह गिल, हुड्डा के प्रधान परमानन्द, रोडवेज के राजसिंह सौरौत, बिजलीबोर्ड के सर्कल सचिव सन्तराम लाम्बा, टीएस सर्कल सचिव राजेश तेजपाल की अध्यक्षता तथा मंच का संचालन यूनिट सचिव जय भगवान आंतिल व कर्मबीर यादव ने किया । प्रधान लेखराज चौधरी, बलबीर कटारिया व रामनिवास ने अपने संबोधन में कहा कि सरकार ने हरियाणा कर्मचारी महासंघ के माँग पत्र पर 16 अप्रैल 2016 व मौजूदा वर्ष 29 मार्च 2017 को अनेकों माँगों पर सहमति जताई थी लेकिन इसके बाद भी इन सहमतियों पर अबतक कोई ध्यान नही दिया गया है जिससे प्रदेश भर के तमाम कर्मचारियों में भारी रोष है इस आक्रोश रैली में कर्मचारियों का भारी जनसैलाब उमड़ेगा जिससे प्रदेश के लाखों कर्मचारी अपनी एकता का परिचय देंगे उन्होंने मुख्य माँगों को गेट मीटिंग के माध्यम से बताते हुए कहा कि बिना शर्त कच्चे कर्मचारियों को पक्का किया जाये, सर्वोच्च न्यायालय के अदेशोनुसार समान काम समान वेतन दिया जाये, सभी कर्मचारियों को कैशलेस मेडिकल सुविधा, जिन बोर्डों व निगमों में 7 वें वेतन आयोग से वंचित हैं उन कर्मचारियों को इसका लाभ शीघ्रता से दिया जाना,1995 की एक्सग्रेसिया स्कीम को लागू करना, स्वास्थ्य विभाग में महिला कर्मचारी को भी लेब टेक्निशयन के समान ग्रेड पे दिये जाने, ग्रुप डी से ग्रुप सी में बने लिपिकों की टाइप टेस्ट व कम्प्यूटर की शर्त हटाये जाने, आंगनवाड़ी, आशा वर्कर्स, मिडडे मिल के कर्मचारियों को 45 वें श्रम सम्मेलन की सिफारिशों अनुसार पक्का किये जाने, रोडवेज बेड़े में बारह हजार नई बसों को शामिल किये जाने, वर्कशॉपों में रिक्त पदों पर पक्की भर्ती, बस चालकों की प्रमोशन डीटीसी हिमाचल परिवहन की तर्ज पर उपनिरीक्षक के पद पर की जाने, यार्ड मास्टरों की संख्या बढ़ाने, जनस्वास्थ्य, सिंचाई, भवन मार्ग शाखाओं के कर्मचारियों को भी तकनीकी स्केल दिये जाने, ग्रुप डी से ग्रुप सी की प्रमोशन उपरान्त सभी कर्मचारियों को भी तकनीकी स्केल दिये जाने, पशुपालन विभाग में बीएलडीए व अन्य श्रेणियों के कर्मचारियों की प्रमोशन फार्मासिस्ट की तर्ज पर किये जाने, शिक्षा बोर्ड के कर्मचारियों को सचिवालयों के कर्मचारियों के समान ग्रेड पे दिये जाने, बिजली बोर्ड में जेई की प्रमोशन एसडीओ पद का कोटा 35 से 50 प्रतिशत करने, आबकारी व कराधान विभाग में सहायक से निरीक्षक की प्रमोशन तीन साल की शर्त हटाने जैसी अनेकों माँगें रखी गई । आन्दोलन की चेतावनी देते हुए वरिष्ठ उपप्रधान सुनील चौहान व राजाराम ठाकुर ने सरकार को चेताते हुए कहा कि 19 अगस्त तक महासंघ की माँगों को लेकर सरकार सकरात्मक कदम नही उठाया तो 20 अगस्त को सीएम सिटी करनाल में कर्मचारियों की आक्रोश रैली में एक बड़े आन्दोलन की घोषणा मंच से की जायेगी । इस अवसर पर वीरसिंह रावत, नवीन ठाकुर, मोनिका राणा, जगदीश, जिलेसिंह कहराना, मुनीश कुमार, लक्ष्मण शर्मा, मुरारी लाल, वीरेन्दर, मौजेलाल, राजबीर सिंह, राकेश तलवार आदि नेताओं ने कर्मचारियों को ज्यादा से ज्यादा संख्या में इस आक्रोश रैली में पहुँचने के लिये आव्हान कर प्राइवेट बस से जाने के लिये रुट मैप व समय सारणी के बारे में दिशानिर्देश जारी किये ।।

loading...
SHARE THIS

0 comments: