Monday, August 14, 2017

वायदाखिलाफी एवम् कर्मचारी विरोधी नीतियों के चलते 20 अगस्त को करनाल में आक्रोश रैली


फरीदाबाद 14 अगस्त 2017(abtaknews.com)हरियाणा प्रदेश की वर्तमान सरकार की वायदाखिलाफी एवम् कर्मचारी विरोधी नीतियों के कारण प्रदेश का हर कर्मचारी वर्ग आज आन्दोलन की राह पर है प्रदेश के कर्मचारियों का प्रतिनिधित्व करने वाला हरियाणा कर्मचारी महासंघ दवारा 20 अगस्त 2017 को हुड्डा ग्राउन्ड सेक्टर-12 की जिला करनाल में होने वाली कर्मचारियों की राज्यस्तरीय आक्रोश रैली की तैयारियाँ जोर-शोर से शुरू कर दी हैं इस सन्दर्भ में आज हरियाणा रोडवेज बल्लभगढ़ पर यूनियन की सभा में हरियाणा कर्मचारी महासंघ फरीदाबाद के जिला प्रधान महेन्दर सिंह की अध्यक्षता में जिला स्तरीय कन्वेंशन का आयोजन किया गया इस दौरान सभा का संचालन जिला सचिव जयसिंह गिल दवारा किया गया सभा को सम्बोधित करते हुए हरियाणा कर्मचारी महासंघ के प्रान्तीय महासचिव वीरेन्दर सिंह धनखड, चेयरमैन सुनील खटाना, वरिष्ठ उपप्रधान सन्तराम लाम्बा, उपप्रधान कर्मबीर यादव, जिला प्रेस सचिव लेखराज चौधरी,वित्तसचिव रामनिवास ने कहा राज्य की सरकार को पूर्ण रूप से कर्मचारी विरोधी करार देते हुए सरकार पर तीखा प्रहार करते हुए सूबे की सरकार से प्रश्न किया कि उनके संगठन की प्रदेश के मुख्यमंत्री तथा सरकार का शीर्षनेतृत्व स्तर पर कई दौर की बातचीत हुई कुछ मुख्य माँगे थी जिनमे मुख्यतः प्रदेश के सभी कच्चे कर्मचारियों को बिना शर्त पक्का करना, राज्य में रिक्त पड़े लाखों पदों पर नियमानुसार स्थायी व पक्की भर्ती करना, सभी विभागों में रिक्त पदों पर पदोन्नति करना, मैडिकल कैशलेस सुविधा अधिसूचित करना, छटे वेतन आयोग की विसंगतियों को दूर करना, बचे हुए बोर्ड निगमों को सातवें वेतन को लागू करना, केंद्र के समान भत्ते जनवरी 2016 से देना, माननीय सर्वोच्च न्यायलय के आदेशानुसार समान काम समान वेतनमान की नीति को प्रमुखता से लागू करना, न्यूनतम वेतनमान 26000 हजार प्रतिमाह देना आदि मुख्य माँगों पर सहमति होने के बावजूद भी आजतक भी सरकार ने उन्हें लागू न करने के विरोध में कर्मचारी नेताओं ने सरकार को चेतावनी भरे लहजे में कहा कि सरकार को 20 अगस्त को राज्य के कर्मचारी वर्ग की ताकत का एहसास करनाल की कर्मचारी आक्रोश रैली में हो जायेगा उसी दिन मंच के माध्यम से प्रदेश में आगामी निर्णायक आन्दोलन की घोषणा भी कर दी जाएगी सभा को मंजीत नरवत, बलबीर कटारिया, कर्मवीर यादव, जय भगवान आंतिल, बजरंगलाल जांगड़ा, जगदीश,राजसिंह सौरौत, दीपक बल्हारा, रामसरन, बृजपाल तंवर, योगेश, अशोक, मौजेलाल, राजाराम, बीरसिंह रावत, सत्यप्रकाश, महाबीर, वीरसिंह, नवीन राणा, श्रीचन्द धारीवाल आदि प्रमुख कर्मचारी नेताओं ने सम्बोधित किया ।

loading...
SHARE THIS

0 comments: