Saturday, August 12, 2017

भारत की राजनीति में अगला समय अति पिछड़ों का, 15 अगस्त को पलवल से होगी शुरुआत - रामकिशन सैन


पलवल(abtaknews.com) निजी होटल में एक पत्रकार वार्ता में सामाजिक न्याय मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामकिशन सैन ने अपनी टीम के साथ मीडिया को बताया कि भारत की राजनीति में अगला समय अति पिछड़ों का होगा।  पिछड़े वर्ग की छोटी-छोटी जातियों ने मिलकर एक जमात बना ली हैं। इसकी संख्या भारत में लगभग 42 प्रतिशत है। यह समाज अब पार्टियों में विधायक, सांसद नही बल्कि अलग से हिस्सेदारी चाहता है। आज समय की मांग है कि राजनीति में एक तिहाई हिस्सा अति पिछड़ों को चाहिए। मोर्चे की मुख्य मांगे है कि अति पिछड़े वर्ग को राजनीति में पंचायत राज/निकायों/विधान सभा/विधान परिषद/लोकसभा व राज्य सभा में अनुसूचित जाति एंव जनजाति की तर्ज पर मिले कोटा, कर्पूरी फ ार्मूले की तर्ज पर ओबीसी आरक्षण का अति पिछड़े और किसानी बैकवर्ड का वर्गीकरण हो, अति पिछड़े वर्ग को सरकारी नौकरियों में अनुसूचित जाति की तर्ज पर पदोन्नति में मिले कोटा,  प्रथम और द्वितीय श्रेणी की नौकरियों में भी 27 प्रतिशत कोटा दिया जाए, पूरा आरक्षण ना देने व हेराफेरी करने व अति पिछड़े वर्ग को जातिसूचक शब्द कहने पर कडी सजा का प्रावधान हो, जाति जनगणना करवायी जाए और पिछली जनगणना को उजागर किया जाए, न्याय पालिका में उच्च न्यायालय व उच्चतम न्यायालय में भी 27 प्रतिशत कोटा दिया जाए, राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग में चेयरमैन पहले की तरह सेवानिर्वत न्यायधीश हो और सदस्य केवल ओबीसी और अति पिछड़े वर्ग की हिस्सेदारी में हो, क्रीमी लेयर बाबत हरियाणा सरकार ने 17/08/2016 को नोटिफि केशन जारी किया है उसको तुरन्त प्रभाव से निरस्त किया जाए, एडहॉक/डी. सी. रेट एंव एकल भर्तियों में 27 प्रतिशत कोटा दिया जाए, बैकलॉग को विशेष भर्ती द्वारा भरा जाए और महिलाओं के आरक्षण में भी ओबीसी को  मिले 27 प्रतिशत कोटा। हमारी मागें अति पिछड़े वर्ग की जीवन रेखा है। अति पिछड़ों की जन अधिकार  रैली में यह नारा 36 बिरादरी हमारी है, अब अति पिछड़ों की बारी है, यह सिद्व करता है कि मोर्चा सभी जातियों को साथ लेकर अपनी राजनैतिक भागेदारी सुनिश्चित करना चाहता है। यह रथ यात्रा सभी 90 विधान सभाओं में जाएगी और हरियाणा के  सभी सांसदों, विधायकों को ज्ञापन सौपेंगीे। 15 अगस्त को माननीय मुख्यमंत्री जी केे मुख्य राजनैतिक सचिव दीपक मंगला जी को ज्ञापन देकर रथ यात्रा की शुरूआत होगी। 5 नवम्बर को यह रथ यात्रा गोहाना पहुंचेगी, जहां लाखों लोग इस विशाल अति पिछड़ें वर्ग की रैैली  में पहुंचेगे। यह रैली हरियाणा में अब तक की ऐतिहासिक रैली होगी। इस रैली को केवल पिछड़े वर्ग के नेता ही सम्बोधित करेंगे। किसी भी पार्टी के  नेता को नही बुलाया गया है। प्रदेश महासचिव कल्याण सिंह ने बताया कि 15 अगस्त को जननायक कर्पूरी ठाकुर और बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर के मिशन को विधानसभा और लोकसभा में पहुंचाने का एजेण्डा रहेगा। इस पत्रकार वार्ता में मुख्यत: जिला अध्यक्ष कर्नल दयाराम बघेल, प्रदेश अध्यक्ष सुखबीर प्रजापति, वरिष्ठ नेता सुबेदार किशन लाल, कर्पूरी ठाकुर की पृष्ठभूमि से आए नन्दकिशोर प्रसाद चन्द्रवंशी, युवा जिलाध्यक्ष मनोज पांचाल, अशोक कुमार सुझवारी, लक्खीराम सोलंकी, धरम सिंह पांचाल, बलदेव शास्त्री, जिला पार्षद समय सिंह, महाबीर पांचाल, सतीश बघेल, प्रधान बजेन्द्र मैथिल, सत्यवीर मैथिल, राजबीर पांचाल, नगर पार्षद प्रहलाद पांचाल, गुरूदत्त बैरागी, सुन्दर लाल पाचंाल आदि उपस्थित रहे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: