Sunday, July 23, 2017

चीन को सदबुद्धि देने के लिये भगवान से यज्ञ कर की है प्रार्थना : लक्ष्मीनारायण



फरीदाबाद 23 जुलाई,2017(abtaknews.com ) बार्डर पर आंतकी हमले में शहीद हो रहे देश के जवानों और अमरनाथ यात्रा के दौरान आतंकी हमले व दुर्घटना में मारे गये शिव भक्तों की आत्मशांति और उनके परिवारों को इस दुख की घडी में हौंसला देने के लिये फरीदाबाद अद्भुतधाम हनुमान मंदिर में भगवान से प्रार्थना की, इस दौरान लोगों द्वारा पूजा अर्चना की गई तो वहीं 9 ब्राह्मणों के द्वारा महायज्ञ का आयोजन किया गया, जिसमें देश के लिये शहादत देने वाले जवानों और अमरनाथ यात्रीयों के नाम की आहूति डाली गई। फरीदाबाद सैक्टर 16 स्थित अद्भुतधाम हनुमान मंदिर में प्रति माह जनकल्याण हेतु त्रिपिण्डीश्राद्व और महायज्ञ किया जाता है इस बार ये सप्तम महायज्ञ शहीद जवानों और अमरनाथ यात्रीयों को समर्पित किया गया है। इस महायज्ञ के आयोजक आचार्य लक्ष्मीनारायन महाराज का कहना है कि जो चीन भारत से निकला है वो आज भारत को ही आंख दिखा रहा है कि हमारी जमीन पर ही कब्जा कर रहा है हम उनकी सदबुद्धि के लिये भगवान से प्रार्थना कर रहे हैं।
फरीदाबाद के अद्भुत धाम हनुमान मंदिर सैक्टर 16 में विशाल महायज्ञ का आयोजन किया गया, जिसमें सैंकडों भक्तों ने अपनी भागीदारी दर्ज करवााते हुए पूजा अर्चना की । इस महायज्ञ के आयोजक महंत लक्ष्मीनारायण महाराज पीठाधीश्वर ने बताया कि आयोजित किये जाने वाला आज का सप्तम त्रिपिंडी श्राद्ध महायज्ञ है जिसमें भक्तों और पंडितों ने बार्डर पर आंतकी हमले में शहीद हो रहे देश के जवानों और अमरनाथ यात्रा के दौरान आतंकी हमले व दुर्घटना में मारे गये शिव भक्तों की आत्मशांति और उनके परिवारों को इस दुख की घडी में हौंसला देने के लिये पहले भक्तों द्वारा पूजा अर्चना की गई उसके बाद महायज्ञ कर देश के लिये अपने प्राण न्यौछावर करने वाले शहीदों के नाम की आहूति डाली है। आचार्य ने बताया कि जनकल्याण और पितृदोष निवारण हेतु किया जा रहा है त्रिपिंडी श्राद्ध महायज्ञ प्रतिमाह किया जाता है जो 9 माह तक लगातार किया जायेगा। इस बार ये सप्तम महायज्ञ शहीद जवानों और अमरनाथ यात्रीयों को समर्पित किया गया है। ये महायज्ञ देश में ही नहीं बल्कि पूरे भूमण्डल में पहला ऐसा महायज्ञ हैं जिसमें अपने पितृों के लिये त्रिपिण्डी श्राद्ध किया है। पंडितों ने एक साथ मंत्राच्चरण के साथ श्राद्ध करवाया। इस महायज्ञ में श्री विवेक शास्त्री, श्री मोहित शास्त्री, श्री उमाशंकर, पंडित सचिन द्विवेदी, पंडित सतेन्द्र तिवारी श्री पंकज मिश्रा श्री अतुल द्विवेदी श्री विकास पांडे श्री सौरभ चतुर्वेदी श्री जगदीश शर्मा जी सहित दर्जनों भक्तों ने हिस्सा लिया।

loading...
SHARE THIS

0 comments: