Sunday, July 30, 2017

शारदा राठौर ने पंजाबी धर्मशाला में कांग्रेस कार्यकर्ता महासम्मेलन कर फूंका संघर्ष का बिगुल

sharda-rathaur-congress-leader-address-gathering-punjabi-dharamshala-ballabgarh

फरीदाबाद(abtaknews.com) बल्लभगढ़ की पूर्व विधायिका एवं हरियाणा सरकार की पूर्व मुख्य संसदीय सचिव कुमारी शारदा राठौर ने आज बल्लभगढ़ की पंजाबी धर्मशाला में कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन कर भाजपा के कुशासन के खिलाफ संघर्ष का बिगुल फूंक दिया। उन्होंने ऐलान किया कि क्षेत्र के साथ भाजपा सरकार की बेकादियों को अब वह सहन नहीं करेंगी तथा आज से धरना-प्रदर्शनों का दौर शुरु करते हुए न तो खुद चैन से बैठेंगी और न ही सरकार में बैठे लोगों को चैन से सोने देंगी। उन्होंने कार्यकर्ता सम्मेलन में जुटी अपार भीड़ का दोनों हाथ जोडक़र अभिवादन करते हुए कहा कि बल्लभगढ़ क्षेत्र के कोने-कोने से आए छत्तीस बिरादरी के हजारों की संख्या में लोगों ने पहुंचकर जो उन्हें बड़ी राजनैतिक ताकत प्रदान की है, उसका कर्ज वह नहीं उतार सकती, लेकिन वह विश्वास दिलाती है कि उनकी हर कसौटी पर खरा उतरते हुए क्षेत्र की आवाज बनने का काम करेंगी। सम्मेलन की अध्यक्षता राजकुमार शर्मा ने की। सम्मेलन में उपस्थित कार्यकर्ताओं ने एक स्वर से सुश्री शारदा राठौर का जोरदार स्वागत कर विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुट जाने का आश्वासन दिया। सम्मेलन में कार्यकर्ताओं की उपस्थिति व जोश देखने लायक था। यूं तो इस कार्यकर्ता सम्मेलन को कार्यकर्ता मीटिंग का नाम दिया गया था, लेकिन मीटिंग में मौजूद हजारों की तादाद ने इसे महासम्मेलन के रुप में बदल दिया। कार्यकर्ता सम्मेलन में उपस्थित भीड़ के उत्साह से गद्गद् पूर्व विधायक शारदा राठौर ने भाजपा सरकार पर हल्ला बोलते हुए कहा कि सरकार के तीन साल पूरी तरह से फेल साबित हुए है, इस सरकार ने हमेशा फूट डालो, राज करो की नीति अपनाते हुए लोगों को बरगलाने का काम किया है। यही कारण है कि मात्र तीन साल में हर वर्ग इस सरकार से दुखी व परेशान है। उन्होंने कहा कि 10 साल के अपने विधायक काल में बल्लभगढ़ के बाजारों में कभी भी इंस्पेक्टरी राज नहीं चलने दिया तथा व्यापारियों ने सुख व अमन-चैन के साथ अपना व्यापार किया, लेकिन अब मौजूदा तीन साल में जहां इंस्पेक्टरी राज हावी हो गया है वहीं सीएम फ्लाईंग की आड़ में व्यापारियों की इज्जत उछाली जा रही है। व्यापारी आज त्रस्त होकर डर व भय के माहौल में जीने को मजबूर है और नोटबंदी व जीएसटी जैसे काले कानून के तहत अपनी जमा पूंजी को ही खाने को मजबूर हो रहा है। उन्होंने बल्लभगढ़ स्थित ऊंचे गांव नंदीग्राम गौशाला का मुद्दा उठाते हुए कहा कि बड़े शर्म की बात है कि गाय व गीता की बात करने वाली भाजपा सरकार में गायों का बुरा हाल है, नंदीग्राम गौशाला में सरकार की लापरवाही व नाकामी के चलते 27 गायें भूख से मर चुकी है। उन्होंने बताया कि कांग्रेस राज में इस गौशाला के लिए हर माह चारा भेजा जाता था वहीं गौशाला में 19 कर्मचारी कार्यरत थे, जबकि आज की भाजपा सरकार में मात्र 7 कर्मचारी ही गौशाला में कार्यरत है। कानून व्यवस्था पर बोलते हुए सुश्री राठौर ने कहा कि आज बल्लभगढ़ सहित समूचे फरीदाबाद में कानून व्यवस्था का बुरा हाल है, मौजूदा सरकार में न व्यापारी सुरक्षित है न ही घर में गृहणी न खेत में किसान सुरक्षित है और न ही आम आदमी। चोरी-डकैती, राहजनी, लूटपाट व महिलाओं के साथ बलात्कार जैसे घिनौने पाप होने आम बात हो गए हैं। हरियाणा सरकार में पूर्व मुख्य संसदीय सचिव शारदा राठौर ने फरीदाबाद के विकास की बात करते हुए कहा कि फरीदाबाद और बल्लभगढ़ को अगर वास्तव में स्मार्ट शहर बनाया तो वह पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा। बदरपुर फ्लाईओवर, बाईपास रोड, सिक्स लाईन हाईवे, बल्लभगढ़ तक मेट्रो, वाईएमसीए यूनिवर्सिटी, मेडिकल कालेज, कैली रेलवे पुल, अनखीर से लेकर तुगलाबाद तक सूरजकुंड रोड, गुडग़ांव व सोहना तक जाने वाली सडक़, मीठा पानी, जैसे बड़े विकास कार्य उनके शासन में कांग्रेस की ही देन है। उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा वाले श्वेत पत्र जारी कर बताए कि उन्होंने बल्लभगढ़-फरीदाबाद को नया क्या दिया है, सिवाए कांग्रेस की योजनाओं के फीता काटने के वहीं उन्होंने मंच से ऐलान किया कि जल्द ही बल्लभगढ़ में एक बड़ी रैली का आयोजन किया जाएगा, जिसमें प्रदेश व जिला के वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं को आमंत्रित कर भाजपा के कथनी और करनी का अंतर लोगों को बताया जाएगा। इस मौके पर कुंवर रतन सिंह एडवोकेट पूर्व पार्षद, सुभाष मंगला, निर्मल कुलश्रेष्ठ, विजय अरोड़ा, अशोक गांधी, शिव अरोड़ा, ब्रह्मनंद कौशिक, सुषमा यादव, सरला भमौत्रा, रतन लाल राणा, नीरज जैन, राकेश राव, बीपी जोशी, अश्वनी कौशिक, नंदलाल मोहना, जगदीश हुड्डा, संजय सोलंकी, विनय भाटी, राजू धारीवाल, जेके सेठी, कुंवर राजेश रावत, वेदपाल दायमा, मास्टर नेपाल सिंह, मौलाना जमालुद्दीन सहित हजारों की तादाद में कांग्रेसी कार्यकर्ता मौजूद थे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: