Wednesday, July 12, 2017

मेट्रोहॉस्पिटल फरीदाबाद में डाक्टरों की लापरवाही, एक ने मृत तो दूसरे ने बताया जिंदा

फरीदाबाद(abtaknews.com)12july,2017; सेक्टर 16 स्थित मैट्रो अस्पताल में डाक्टरों की बडी लापरवाही का बडा मामला सामने आया है जहां बीपी हाई और ब्रेन हेमरेज की बिमारी के चलते दो दिन पहले भर्ती हुई 65 वर्षीय महिला कैलाशी का ईलाज किया जा रहा था, देर रात डाक्टरों ने परिजनों को बताया कि उनके मरीज की मौत हो चुकी है, आज सुबह जब परिजन अपने मरीज को डिसचार्ज करवाने के बाद ले जाने लगे तो एक डाक्टर ने चैक कर कहा कि अभी महिला जिंदा है। एक ही अस्पताल के दोनों डाक्टरों में से एक ने महिला को मृत बताया तो दूसरा डाक्टर जिंदा होने का दावा करने लगा। कभी महिला को अंदर ले जाया गया तो कभी बाहर निकाला गया, इससे गुस्साये परिजनों ने अस्पताल में घुसकर जमकर हंगामा किया। मौके पहुंची पुलिस ने परिजनों को शांत करवाया और अंत महिला को फिर से चैक कर डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। लापरवाही के बाद भी अस्पताल महिला के ईलाज के नाम पर परिजनों से 1 लाख 25 हजार रूपये ले चुका है। मैट्रो अस्पताल के डाक्टरों की काबिलयत पर सवालिया निशान, परिजनों ने अपने मरीज के साथ बड़ी लापरवाही का आरोप लगाया है। हॉस्पिटल के एक डाक्टर ने महिला को मृत बताया तो वहीं दूसरा डाक्टर महिला के जिंदा होने का दावा करता हुआ दिखा। मामला फरीदाबाद सेक्टर 16 स्थित मैट्रो अस्पताल का है जहां लाल खेडली गुडगांव की रहने वाली 65 वर्षीय बुजुर्ग महिला कैलाशी को फरीदाबाद के गांव बुडैना से वीपी हाई और ब्रेन हेमरेज की बिमारी के चलते दो दिन अस्तपाल में भर्ती करवाया। ईलाज के दौरान सब कुछ ठीक था अचानक देर रात डा. सचिन ने परिजनों को सूचना दी कि उनका मरीज मर चुका है। परिजन आज सुबह का इंतजार कर अपने मरीज को डिसचार्ज करवा कर अपने घर ले जाने लगे तभी एक डाक्टर आया और चैक करने के बाद बोला कि महिला अभी जिंदा है, ये सुनकर परिजनों होश उड गये ये कैसे हो सकता है। तभी मृत घोषित करने वाले डाक्टर ने दुबारा आकर कहा कि ये महिला मर चुकी है वहीं खडा दूसरा डाक्टर जिंदा होने का दावा करते हुए दिखा, परिजन समझ नहीं पा रहे थे कि आखिर उनका मरीज जिंदा है या मर चुका है। जिससे गुस्साये परिजनों ने हंगामा शुरू कर दिया सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और परिजनों को शांत करवाया, दुबारा जांच के लिये बुजुर्ग महिला को कभी इमरजेंसी ले जाया गया तो कभी बाहर निकाला गया अंत में डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। मृतक महिला के बेटा, पोती और बहन ने मीडिया को बताया कि डाक्टरों ने ईलाज के नाम उनसे 1 लाख 25 हजार रूपये हडप लिये हैं उसके बाद भी डाक्टरों की इतनी बडी लापरवाही का मामला सामने आया है। वो चाहते हैं डाक्टरों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करके उन्हें न्याय दिलाया जाये।

loading...
SHARE THIS

0 comments: