Tuesday, July 18, 2017

डॉ एम पी सिंह ने स्कूली बच्चों को सड़क सुरक्षा के प्रति किया जागरूक

फरीदाबाद(abtaknews.com)सड़क सुरक्षा एवं सुरक्षित स्कूल वाहन पाॅलिसी के तहत समीरपाल सरो, आईएएस, उपायुक्त, फरीदाबाद के आदेशानुसार, आशुतोष राजन एचसीएस, सचिव आरटीए के दिशा निर्देशानुसार सड़क सुरक्षा के नोडल अधिकारी डा0 एमपी सिंह ने माननीय उच्च न्यायालय के आदेशों की पालना करने हेतु नवोदय विद्या निकेतन सीनियर सैकेण्डरी स्कूल, गाजीपुर रोड, डबुआ कालोनी, फरीदाबाद में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया जिसमें क्विज कम्पटीशन आॅन ‘‘ओवर स्पीड अवेरनेस एण्ड डेन्जरस ड्राईविंग/नो ड्रिन्कन ड्राईविंग पर किया गया। उक्त विद्यालय के प्रधानाचार्य आर.के. शर्मा ने कार्यक्रम की विध्वित शुरूआत की और सड़क सुरक्षा के नोडल अधिकारी डा0 एमपी सिंह ने लगभग 800 विद्यार्थियों और अध्यापकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि अधिक तेज गति मंे हमें अपने वाहन को नहीं चलाना चाहिए। स्पीडोमीटर में दी हुई गति के लायक फरीदाबाद की सड़के व स्थिति नहीं है। यहां के लोगों में जागरूकता का अभाव है इसलिए सड़क पर लगे हुए गतिसीमा के चिन्हों को देखते हुए ही अपनी वाहन की गति रखनी चाहिए ताकि किसी को अपने गन्तव्य स्थान पर पहुंचने में परेशानी ना हो और मार्ग को कभी अवरूद्ध भी नहीं करना चाहिए। सड़क सुरक्षा व प्राथमिक सहायता नामक पुस्तक के लेखक डा0 एमपी सिंह ने डेन्जिीरियस ड्राईविंग व ड्रिन्कींग ड्राईविंग के लिए विशेष हिदायतें दी। ये दोनों ही जानलेवा सिद्ध हो सकती है। हिन्दुस्तानी माता-पिता के अधिकतर एक या दो बच्चे ही हैं। यदि वे रोड एक्सीडेन्ट में मारे जाते हैं या घायल हो जाते हैं तो पीड़ित परिवार टूट जाता है और अधिक लम्बे समय तक समाज में सरवाईब नहीं कर पाता है। इसलिए हम सभी जागरूक इन्सानों की डयुटी बनती है कि सड़क सुरक्षा सम्बन्धी सभी नियमों की जानकारी जन-जन तक पहुंचाएं और उनकी अनुपालना कराएं।

loading...
SHARE THIS

0 comments: