Friday, July 14, 2017

मनोहर लाल हरियाणा विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय के पहले बैच को करेंगे संबोधित

फरीदाबाद, 14 जुलाई,2017(abtaknews.com)हरियाणा विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय(एचवीएसयू) का सर्टिफिकेशन स्किल कार्यक्रम के तहत पहला बैच 15 जुलाई को फरीदाबाद के वाईएमसीए विश्वविद्यालय में शुरू होगा जिसको हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल शनिवार को दोपहर बाद 3 बजे संबोधित करेंगे। इस पहले बैच की शुरूआत वाईएमसीए विश्वविद्यालय फरीदाबाद के कैंपस से की जा रही है। इस बारे में जानकारी देते हुए हरियाणा विश्वकर्मा स्किल विश्वविद्यालय के कुलपति श्री राज नेहरू ने बताया कि शुरूआती चरण में एचवीएसयू द्वारा यह प्रशिक्षण छह जिलों में चलाया जाएगा। एचवीएसयू ने हरियाणा के 12000 युवाओं के सक्षम युवा योजना के आंकड़ों का विश्लेषण किया है और उनके कम्युनिकेशन स्किल, पर्सनेल्टी डव्लपमेंट तथा लाइफ स्किल का प्रशिक्षण देकर उन्हें हुनरमंद बनाने के लिए युवाओं का चयन किया गया है। इन युवाओं से मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल सीधे मुखातिब होंगे। इस अवसर पर इंटीग्रेटिड एसोसिएशन ऑफ माइक्रो, स्मॉल एंड मीडियम इंडस्ट्रीज(आईएमएसएम) के चेयरमैन राजीव चावला, वाईएमसीए विश्वविद्यालय के कुलपति डा. दिनेश कुमार, एचवीएसयू के कुलपति राज नेहरू भी इस बैच के प्रतिभागियों को संबोधित करेंगे और उन्हें हुनरमंद बनाने के लिए दिए जाने वाले प्रशिक्षण के बारे में विस्तार से बताएंगे। हरियाणा विश्वकर्मा स्किल विश्वविद्यालय के कुलपति श्री राज नेहरू ने बताया कि विश्वविद्यालय ने सर्टिफिकेशन स्किल प्रोग्राम को छह शहरों नामत: गुडग़ांव, फरीदाबाद, कुरुक्षेत्र, हिसार, रोहतक और रेवाड़ी में शुरू करने का निर्णय लिया है। यह स्किल सर्टिफिकेशन प्रोग्राम हरियाणा के युवाओं के लिए मूल रूप से कम्युनिकेशन स्किल और पर्सनेलिटी डैव्लपमेंट में सर्टिफिकेशन कोर्स होगा जिसमें युवाओं की बेसिक ग्रैमर, कम्युनिकेशन स्किल, राइटिंग स्किल, एक्सप्रैशन स्किल, रीडिंग स्किल और हियरिंग स्किल, म्युचुअल स्किल , लाइफ स्किल, टेलीफोन एटिकेट्स, टैक्रोलॉजी कमपेटिबल कै पेसिटी में वृद्धि करेगा। युवाओं के इस पसंदीदा पायलेट प्रोजेक्ट को वाईएमसीए फरीदाबाद और हारट्रोन गुरुग्राम के सहयोग से शुरू किया जाएगा और हरियाणा विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय अगले 18 से 24 महीनों में सक्षम योजना के 10,000 युवाओं को हुनरमंद बनाने की योजना बना रहा हैं।

loading...
SHARE THIS

0 comments: