Saturday, July 1, 2017

स्वच्छता अभियान की रीढ़ की हड्डी हैं सफाई कर्मचारी : सुरेंद्र नाथ अवधूत

फरीदाबाद,1जुलाई,2017(abtaknews.com): भारत और प्रदेश सरकार द्वारा चलाए जा रहे स्वच्छता अभियान की नगर पालिकाओं तथा हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण में कार्य कर रहे सफाई कर्मचारी ऐसे अभियानों की रीढ़ की हड्डी होते हैं, लेकिन आजादी के बाद भी ऐसे विभागों में आज भी सिर पर मैला ढोने का कार्य किया जा रहा है। यह अति निंदनीय है। यह बात सनातन हिंदू वाहिनी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं कालकाजी मंदिर दिल्ली के पीठाधीश्वर श्री श्री सुरेंद्र नाथ अवधूत ने वीर एकलव्य दल के प्रदेशाध्यक्ष जितेंद्र बाल्मीकि द्वारा आहूत प्रैसवार्ता को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि भारत ने हर क्षेत्र में उन्नति की है लेकिन बाल्मीकि समाज के साथ प्रशासन अभी भी भेदभाव बरत रहा है। उन्होंने कहा कि सफाई कर्मचारियों को सफाई से संबंधित उपकरण मुहैया नहीं करवाए जाते तथा हाइवे पर काम करने वाले कर्मचारियों को सुरक्षा बेल्ट व रोड रिटेक्टर ाी मुहैया नहीं करवाए जाते जिसके कारण सफाई कर्मचारियों के साथ हादसे होते रहते हैं। उन्होंने मांग की कि विभागों में चल रहे सफाई ठेकों को तुरंत प्रभाव से समाप्त किया जाए तथा पिछले दिनों हुई सफाई कर्मचारियों की मौत पीडि़त परिवारों को उचित मुआवजा व सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाए। उन्होंने कहा कि सनातन हिंदू वाहिनी वीर एकलव्य दल के साथ कंधे से कंधा मिलाकर सफाई कर्मचारियों की भी लड़ाई लडेगी ताकि उन्हें न्याय मिल सके। एनरोलमेंट कमेटी के चेयरमैन एडवोकेट ओपी शर्मा ने कहा कि सिर पर मैला ढुलवाया जाना कानून के उल्लंघन में आता है। ऐसे विभाग सफाई कर्मचारियों के साथ में अन्याय कर रहे हैं तथा कानून की धज्जियां उड़ाई जा रही है। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के हावी पन के कारण सफाई कर्मचारियों के साथ ऐसा बर्ताव हो रहा है। उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय ने निर्देष दिए हैं कि सफाई कर्मचारियों से सिर पर मैला न ढुलवाया जाए तथा उन्हें उपकरण मुहैया करवाया जाए। प्रैसवार्ता को वीर एकलव्य दल के जितेंद्र चंदेलिया ने संबोधित करते हुए कहा कि वे पिछले डेढ़ साल से हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के अधिकारियों से सफाई कर्मचारियों के न्याय के लिए लड़ रहे हैं लेकिन ठेकेदारी प्रथा के चलते कोई भी अधिकारी कर्मचारियों की सुनकर राजी नहीं है।

loading...
SHARE THIS

0 comments: