Tuesday, July 4, 2017

ग्रामीणों को बाढ़ से बचने के बताये तौर तरीके


फरीदाबाद, 4 जून।  उपायुक्त समीरपाल सरो के आदेशानुसार तथा जिला राजस्व अधिकारी पी.डी. शर्मा के दिशा-निर्देशानुसार आपदा प्रबन्धन विषय विशेषज्ञ डा. एम.पी. सिंह द्वारा बाढ़ सुरक्षा सप्ताह का आयोजन गांव मंझावली व चांदपुर में किया गया। इसमें नायब तहसीलदार हरीश शर्मा व रिसर्च आफिसर अंकिता प्रसून का अह्म योगदान रहा। पी.डी. शर्मा ने बताया कि बाढ़ सुरक्षा सप्ताह के तहत दूसरे दिन बाढ़ से बचाव पर नुक्कड़ नाटक किया गया और चीफ वार्डन सिविल डिफैंस डा. एम.पी. सिंह ने अपने व्यक्तव्य में कहा कि यदि बरसात का पानी अधिक हो जाता है और यमुना का पानी ग्रामीणों के घरों में आने की आशंका हो जाये तो पहले ही लाइफ सुरक्षा किट तैयार कर लेनी चाहिये जिसमें एक टार्च, लाठी, रस्सी, कपड़ा, ड्राइफ्रूट चना व पानी की बोतल होनी चाहिए। पानी आने की स्थिति में अपने पालतू पशुओं को स्वतन्त्र कर देना चाहिए। शान्तनु सिंह कप्तान ने आज बाढ़ सम्बन्धी जानकारी जिला आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण के नोडल अधिकारी पी.डी. शर्मा से हासिल की। शिवशक्ति कलामंच कुरूक्षेत्र के कलाकारों ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से हरियाणा सरकार की गतिविधियों का बखान किया और हरियाणवी डान्स के माध्यम से लोगों के मन को मोह लिया। उक्त कार्यक्रम में मंझावली की सरदारी व चांदपुर की सरदारी के साथ आंगनवाड़ी वर्कर विद्यालय के छात्र-छात्राएं भी मौजूद थे।  इस अवसर पर जिला राजस्व अधिकारी ने गांव मंझावली, अकबरपुर तथा फैजूपुर के सुरक्षित स्थानों का जायजा लिया। इस मौके पर मझांवली के सरपंच राकेश ने बताया कि यहां पर यमुना का बांध का काम अनिवार्य है ताकि भविष्य में लोगों की जान व माल को हानि से बचाया जा सके।

loading...
SHARE THIS

0 comments: