Sunday, July 23, 2017

तिगांव विधायक की राहगीरी से बेबस हुई फ़ौज, दो घंटे से रास्ता नहीं मिला फ़ौज के काफिले को

Convoy-Indian-military-waiting-clear-road-badshahpur-tilpatrange-tigaon-due-to-congress-mla-rally-on-road-today
फरीदाबाद (abtaknews.com) राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की सुरक्षा से बेपरवाह कांग्रेसी विधायक  की राहगीरी  के चलते भारतीय फ़ौज बेबस हो गई , दो घंटे से रास्ता नहीं मिलने से कांग्रेसी विधायक  की राहगीरी से बेबस हुई फ़ौज, 2 घंटे से तिलपत रेंज के लिए रास्ता नहीं मिल पाया है। उक्त मामला तिगांव विधानसभा क्षेत्र के गांव बादशाहपुर का है जहां रविवार की सुबह से ही गांव के मुख्य चौराहे को रैली के लिए बंद कर दिया गया है। इस चौराहे से डेढ़ दर्जन गांवों का रास्ता निकलता है सभी का रास्ता रूक गया है। गांव के चौराहे पर कांग्रेसी विधायक के राजनैतिक मजमे से आसपास के ग्रामीणों को शहर आने जाने में परेशानी हो रही है।  इसी रास्ते से होकर तिलपत रेंज जा रहे भारतीय फौजियों के काफिले को सरकारी स्कूल के पास रोक दिया गया है।  स्थल पर  गांव बादशाहपुर निवासियों से ज्यादा बाहरी किराये की भीड़ जमा है पैदल निकल पाना भी मुश्किल है।
 गांव बादशाहपुर के अंबेडकर चौक पर तिगांव विधायक के सम्मान समारोह के नाम पर आयोजित रैली के लिए चौराहे को चारों तरफ से बंद कर दिया गया है। इसी रास्ते से भारतीय फ़ौज का काफिला तिलपत रेंज के लिए अपनी भारी भरकम गाड़ियों के साथ रविवार के दिन ही निकलता है ताकि शहर में ट्रैफिक कम होने के चलते इन्हे भी परेशानी ना हो और शहरवासियों को भी इनकी वजह से असुविधा न रहे। देश की राजधानी की सुरक्षा के लिए बनाये गए भारतीय सेना के मुख्यालय तिलपत रेंज में फौजियों की हथियार बंद वाहनों के साथ आवाजाही बनी रहती है।  लेकिन आज का रविवार फौजियों को भारी पड़ गया। फ़ौज का आला अधिकारियो को कुछ ग्रामीणों ने दूसरा रास्ता सुझाया तब दो घंटे के बाद फौजियों के काफिला अपने गंतव्य पर पहुंचा।
फौजियों को रास्ता ना देकर आखिर ये नेता कौन सी नेतागिरी दिखाना चाहते है।  इना नेताओं को आखिर कौन अधिकारी बीच चौराहे पर और सड़क पर रैलियां करने की अनुमति देता है? क्या इन नेताओं के पास चौराहे बंद कर रैलियां करने की परमिशन होती है यदि होती है तो कौन सा अधिकारी किस आधार पर इन्हे सड़क पर रैलियां करने की इजाजत दे देता है / सड़क रोक कर आयोजन करने से आम जनमानस को कितनी पीड़ा -कितनी परेशानी होती है शायद इन खद्दर धारियों को पता नहीं है।


loading...
SHARE THIS

0 comments: