Thursday, July 6, 2017

भ्रष्टाचार विरोधी मंच के तत्वाधान में चल रहे धरने को विधायक ललित नागर ने दिया समर्थन

फरीदाबाद, 6 जुलाई,2017(abtaknews.com)तिगांव विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेसी विधायक ललित नागर ने आज भ्रष्टाचार को लेकर निगम मुख्यालय के समक्ष अनशन पर बैठे अनशनकारी बाबा रामकेवल को कांग्रेस पार्टी की ओर से समर्थन दिया और सरकार से मांग करते हुए कहा कि वह निगम में हुए हजारों करोड़ के घोटाले की सीबीआई जांच करवाए, जिससे कि आमजन के समक्ष सच्चाई उजागर हो सके। विधायक ललित नागर ने हैरानी जताते हुए कहा कि पिछले दो महीने से निगम में हुए भ्रष्टाचार की जांच की मांग को लेकर धरने पर बैठे निगम अधिकारी रतनलाल रोहिल्ला, बाबा रामकेवल, पदमश्री डा. ब्रहमदत्त, वरुण श्योकंद की सरकार ने अभी तक कोई सुध नहीं ली है, जिससे यह प्रतीत होता है कि नगर निगम में हुए घोटाले में स्थानीय केंद्रीय राज्यमंत्री, कैबिनेट मंत्री, भाजपा विधायक सहित निगम के आला अधिकारी भी संलिप्त है, इसलिए सरकार इसकी जांच नहीं करवाना चाहती। उन्होंने भ्रष्टाचार उजागर करने वाले निगम अधिकारी रतन लाल रोहिल्ला के साथ सरकार व नगर निगम प्रशासन के द्वारा की जा रही प्रताडऩा की कार्यवाही की कड़े शब्दों में निदंा की और कहा कि रतन रोहिल्ला, बाबा रामकेवल, वरूण श्योकंद और डा.ब्रहमदत्त पदमश्री अपने लिए नहीं बल्कि लाखों फरीदाबादवासियों के लिए जननायक की तरह भ्रष्टाचार विरोधी मुहिम छेड़े हुए हैं । आखिर में रोहिल्ला ने क्या कसूर किया है, सरकार क्यों उसका दमन कर रही है। उन्होंने एलान किया यदि भ्रष्टाचार क ी आवाज को कुचलने के लिए सरकार रोहिल्ला को नौकरी से निकालती है तो कांग्रेस सरकार उन्हें ससम्मान पूरे वेतन के साथ नौकरी पर वापिस लेगी। उन्होंने कहा कि तीन साल पहले भ्रष्टाचार को मुद्दा बनाकर सत्ता में आई भाजपा सरकार में जमकर भ्रष्टाचार हो रहा है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री मनोहर लाल भ्रष्टाचार समाप्त करने के बड़े-बड़े दावे करते है, जबकि दूसरी तरफ करीब 60 दिनों से भ्रष्टाचार के खिलाफ अनशन पर बैठे लोगों की सरकार ने अभी तक कोई सुध नहीं ली है, इससे साबित होता है कि सरकार की नीति और नीयत में कितना अंतर है। उन्होंने कहा कि निगम के भ्रष्टाचार में निगम के बड़े अधिकारियों के साथ-साथ स्थानीय राजनेता भी शामिल हैं, यदि मुख्यमंत्री जांच नहीं करवाते हैं तो उनकी तथाकथित ईमानदारी पर प्रश्रचिन्ह लगता है। श्री नागर ने कहा कि जितना भ्रष्टाचार 3 वर्षाे के दौरान देश व प्रदेश में हुआ है, उतना भ्रष्टाचार आजादी के 70 वर्षाे बाद भी नहीं हुआ। आज सत्तापक्ष के लोग कमीशन नहीं बल्कि हिस्सेदारी की मांग करते है, फरीदाबाद नगर निगम भ्रष्टाचार का एक बड़ा अड्डा बन गया है, जिसके चलते आम आदमी का सरकार की जनविरोधी नीतियों से पूरी तरह से मोहभंग हो चुका है और व सरकार के खिलाफ सडक़ों पर उतरने लगा है। जगह-जगह कूड़े के ढ़ेर लगे हुए हैं, पानी भरा पड़ा है, विधायक ललित नागर ने कहा कि बाबा रामकेवल ने अपना संपूर्ण जीवन जनसेवा और समाजसेवा में समर्पित कर दिया, आज जब उन्हें किसी मंदिर में ईश्वर की भक्ति में लीन होना चाहिए था, लेकिन भाजपा सरकार में भ्रष्टाचारमुक्त शासन के खिलाफ वह भी इस मुहिम में जीभ भेदकर अनशन पर बैठे है परंतु उनकी भी इस सरकार में कोई सुनवाई नहीं हो रही है। श्री नागर ने अनशन पर बैठे सभी लोगों को विश्वास दिलाया कि भ्रष्टाचार की इस मुहिम में वह पूरी तरह से उनके साथ है और आगामी विधानसभा सत्र में इस मामले को पुरजोर तरीके से उठाकर इसकी उच्चस्तरीय जांच करवाए जाने की मांग रखेंगे और ऐसे भ्रष्टाचारियों से कांग्रेस सरकार आने पर जनता की खून-पसीने की कमाई का पूरा हिसाब लिया जाएगा सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रातंीय महासचिव सुभाष लाम्बा ने प्रदेश के लाखों कर्मचारियों की ओर से इस आंदोलन का समर्थन किया और आश्चर्य व्यक्त किया कि निगम का ही एक अधिकारी घोटाले उजागर कर रहा है, लेकिन सरकार जांच तक नहीं करवा रही है - जो कि सरकार की भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टालरेंस पालिसी की पोल खोलने के काफी हैँ। जिला युवा कांग्रेस के अध्यक्ष तरूण तेवतिया ने भी आंदोलन का जोरदार समर्थन किया। कांग्रेसी नेता अनीशपाल, डा.धर्मदेव आर्य, युद्धवीर झा, सुन्दर नेता जी, जैना पंडित, मुकुलपाल, गंगाराम नेता जी, मनोज नागर, मनोज पांडे, जसवंत पंवार, राजेश शर्मा, अमित चौधरी, मनीष भारद्वाज, सरदार तेजिंदर सिंह विर्क, धन सिंह अत्री आदि ने भी इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त किया।

loading...
SHARE THIS

0 comments: