Sunday, July 2, 2017

जुनैद हत्याकांड में फंसाए गए युवकों के पक्ष में हुई खाम्बी गांव में 36 विरादरी की महापंचायत

पलवल-2july,2017; गाँव खामी में हुई 36 विरादरी की महापंचायत! इस महापंचायत में हजारों की संख्या में लोगों ने लिया भाग और हजारों की संख्या में महिलाओं ने भी इस महापंचायत में लिया भाग ! इस पहली महापंचायत हुई है जिसमे महिलाओं ने भी भाग लिया है! यह महापंचायत ट्रेन में हुई जुनैद की हत्या को लेकर की गई क्यों की इस हत्या में गाँव खामी के 15 लोगों को पुलिस ने पकड़ा है जबकि गाँव के लोगों ने कहा की यह गाँव से पकडे गए सभी लोग वेकसुर हैं क्यों की यह केवल जिस डिब्बे में हत्या की गई थी उस डिब्बे में यह बैठे थे लेकिन इन लोगों ने हत्या नहीं की है और पुलिस असली हत्यारे को नहीं पकड़ा पा रही है और निर्दोष लोगों को पकड़ कर हत्या में शामिल कर रही है लोगों ने कहा की इस हत्या को एक जाती में बांटा जा रहा है और नेता और प्रसाशन राजनीति के दबाब में निर्दोष लोगों को गिरफ्तार कर रही है यह सही नहीं और अब हमसे पुलिस का यह रवैया बर्दाश नहीं होगा! नेता सही नहीं कर रहे हैं जो नेता इसको हिन्दू मुश्लिम समाज में बाँट रहे हैं यह सही नहीं है नेताओं को भी सिखाया जाएगा एक सबक! पुलिस ने रात के समय हमारी बहन बेटियों के साथ किया था गलत व्यव्हार और जिन पुलिस वालों ने यह व्यवाहर किया है उनके खिलाफ कार्यवाही की जाए और निर्दोष लोगों को नहीं पकड़ा जाए! इस महापंचायत में हजारों की संख्या में महिलाओं ने भी लिया भाग और महिलाओं ने कहा की अगर मामले में सही से जाँच नहीं की गई तो महिलांए भी आएगी सड़कों पर और नेताओं की सिखाएगीं सबक ! इस महापंचायत में 51 लोगों की कमिटी बनाई गई जो मुख्य मंत्री से और प्रधान मंत्री से सही से जाँच कराने के लिए मिलेगी ! इस महापंचायत में मुश्लिम समाज के सड़कों लोग भी रहे मौजूद और इन्होने भी सही से जाँच करने के लिए और निर्दोष लोगों को नहीं पकड़ने के लिए कहा! इस महापंचायत के अध्यक्ष लेखराज शर्मा को चुना गया और 52 पालों के सरदार चौधरी अरुण कुमार जेलदार ने दिया पूरा समर्थन और कहा की नहीं होने दिया जाएगा अन्याय!
पलवल के गाँव खामी में ट्रेन मे जुनैद की चाकुओं से गोदकर हुई हत्या के मामले में पुलिस के द्वारा हत्या के आरोप में पकडे जा रहे गाँव खामी के युवाओं को लेकर आज 36 बिरादरी की महापंचायत हुई इस महापंचायत में हजारों की संख्या में लोगों ने भाग लिया जिसमे मुश्लिम समाज के भी सैकड़ों लोगों ने भाग लिया लेकिन आज पहली बार देखने को मिला की इस महापंचायत में हजारों की संख्या में महिलाओं ने भाग लिया क्यों की जिस तरह से 22 जून को पुलिस के द्वारा रात के समय लगभग 2 बजे घरों के दरवाजों को तोड़कर और महिलाओं के साथ गलत व्यव्हार करते हुए गाँव के लगभग 15 युवाओं को गिरफ्तार करके ले गई थी इसी लिए इस पंचायत में महिलाओं ने भाग लिया और अपनी गाथा भी पंचायत के सामने रखी! इस पंचायत में मौजूद सभी पंचों ने अपने अपने विचार रखे और महिलाओं ने और मुश्लिम समाज के लोगों ने भी अपने अपने विचार रखे! इस महापंचायत का अध्यक्ष जिला ब्रहाम्ण समाज के प्रधान लेखराज शर्मा को चुना गया और 52 पालों अध्यक्ष अरुण जेलदार भी इस महापंचायत में मौजूद रहे ! इन सभी ने ट्रेन में चाकुओं से गोदकर हुयी जुनैद की हत्या पर गहरा खुद प्रकट किया गया लेकिन इस पंचायत में लोगों ने कहा की इस हत्या को दो समाजों में बाँट दिया गया है इसको बाँटने वाले नेता है ! पंचों ने नेताओं को और पुलिस प्रसाशन को लिया आड़े हाथों लिया और कहा की नेताओं ने इस हत्या को दो समुदायों में बाँट दिया है जबकि आए दिन झगडे हो रहे हैं और हत्याएं हो रही हैं यह नेता और प्रसाशन वहां क्यों नहीं जाता हैं ! लोगों ने कहा की जुनैद की हत्या का उनको भी भारी दुःख हैं और इस हत्या में शामिल लोगों को सजा मिलनी चाहिए लेकिन निर्दोष लोगों को नहीं पकड़ना चाहिए! पलवल और तुगलकाबाद के बीच 22 जून को ट्रेन में हुए हमले में चाकुओं से हुई जुनैद की हत्या और इस हमले में 4 लोगों के घायल होने के बाद पुलिस ने इस हमले में लोगों की धड़पकड़ सुरु कर दी है और अब पुलिस ने लगभग तीन दर्जन लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है और इसमें लगभग 15 लोग पलवल के गाँव खामी के ही हैं जिनको पुलिस ने गिरफ्तार किया है लेकिन अभी पुलिस असली हत्यारें तक नहीं पहुँच पाई है! इस बात को लेकर अब लोगों में रोष बन गया है और आज गाँव खामी में महापंचायत की गई जिसमे सभी समाजों के हजारों की संख्या में लोग शामिल थे! पंचायत में मौजूद लोगों ने कहा की इस गाँव से पकडे गए सभी लोग निर्दोष हैं और यह रोजाना अपनी अपनी ड्यूटियों पर और कामों पर जाते हैं और गाँव के जो युवक पकडे हैं यह केवल जिस डिब्बे में हत्या की गई थी उस डिब्बे में यह बैठे थे और इनका हत्या से कोई लेना देना नहीं हैं! इस हत्या को एक जाती में बांटा जा रहा है और नेता और प्रसाशन राजनीति के दबाब में निर्दोष लोगों को गिरफ्तार कर रही है यह सही नहीं ! लोगों ने कहा की उनसे अब पुलिस का यह रवैया बर्दाश नहीं होगा क्यों की पुलिस ने रात के समय घरों में घुसकर उनकी बहन बेटियों के साथ गलत व्यव्हार किया है और उन पुलिस वालों के खिलाफ कार्यवाही होनी चाहिए ! पुलिस ने रात के समय हमारी बहन बेटियों के साथ किया था गलत व्यव्हार और जिन पुलिस वालों ने यह व्यवाहर किया है उनके खिलाफ कार्यवाही की जाए और निर्दोष लोगों को नहीं पकड़ा जाए ! अगर पुलिस ने अब गाँव में घुसकर निर्दोष लोगों को पकड़ा और जिन लोगों को पकड़ा है उनको नहीं छोड़ा तो वह अब पीछे नहीं हटेगें! सही हत्या आरोपी पकड़ा जाए निर्दोष नहीं पकडे जाएं ! इस पंचायत में 51 सदस्य कमेटी का गठन किया गया और यह कमेटी पहले जिला उपायुक्त से मिलेगी और मुख्य मंत्री से और प्रधान मंत्री से मिलेगी और जिन पुलिस वालों ने गलत व्यव्हार किया है उनके खिलाफ मामला दर्ज कराने के लिए कहेगी और जो निर्दोष लोग इस हत्या में पकडे जा रहे हैं उनको नहीं पकड़ना चाहिए! अगर उनकी यह बात नहीं मणि गई तो पंचायत में यह फैसला लिया गया की प्रदेश स्तर पर जो नेता इस हत्या को दो समाजों में बाँट रहे हैं और निर्दोष लोगों को फसाया जा रहा है उसके लिए प्रदेश स्तर पर एक विशाल पंचायत की जाएगी और एक बड़ा आंदोलन किया जाएगा !

loading...
SHARE THIS

0 comments: