Tuesday, July 25, 2017

किडनी के मरीजों को खुशहाल और स्वस्थ जीवन जीने का संदेश दिया


फरीदाबाद 25 जुलाई 2017(abtaknews.com)एशियन अस्पताल ने हरियाली तीज के मौके पर अपने प्रंागण में प्रेरणा नामक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में किडनी के मरीजों और डायलसिस पर निर्भर मरीजों और उनके परिजनों ने भाग लिया। एशियन अस्पताल के चेयरमैन एवं मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ. एनके पांडे उनकी अर्धंगिनी  पद्मा पांडे,डायरेक्टर मेडिकल सर्विसेज डॉ प्रशांत पांडे, पेशंट केयर विभाग की हैड डॉ. स्मृति पांडे, इंटरनेशनल मार्केटिंग विभाग की डायरेक्टर श्रीमति नेहा पांडे, डॉ. डीके केसर, डॉ. रिषी गुप्ता, डॉ. अनीता कांत और डॉ.हिलाल अहमद ने दीप प्रज्जवलन कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस मौके पर गुर्दा रोग विशेषज्ञ डॉ जितेंद्र कुमार, डॉ.बी.के उपाध्याय, आहार विशेषज्ञा डॉ. शिल्पा ठाकुर , मनोचिकित्सक डॉ. त्वीशी और डायलसिस टीम के अलावा अस्पताल के अन्य सदस्य उपस्थित रहे।
एशियन अस्पताल के  गुर्दा रोग विशेषज्ञ डॉ. जितेंद्र कुमार ने इस मौके पर लोगों को बताया कि एशियन अस्पताल में एक ही छत के नीचे किडनी के  उपचार की समस्त सुविधाएं जैसे डायलसिस, हीमोडायाफिल्ट्रेशन और गुर्दा प्रत्यारोपण की सुविधा उपलब्ध है। इसके अलावा अत्याधुनिक तकनीकों से लैस मशीनों के प्रयोग कर डायलसिस की जाती है। किडनी फेल्योर एक लंबे समय तक चलने वाली बीमारी है। किडनी की बीमारी से ज्यादा उसका डर लोगों को ज्यादा परेशान करता है। उन्होंने यह भी जानकारी दी कि किडऩी रोग के दौरान यह भी संभव है कि परहेज करते हुए स्वादिष्ट और पौष्टिक खाना खाकर  स्वस्थ्य और खुशहाल जीवन जी सकते हैं। इस विषय पर जागरुकता लाने के उद्देश्य से ही प्रेरणा नामक इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। 
आमतौर पर देखा गया है कि जैसे ही मरीज को किडऩी से संबंधित बीमारी का पता चलता है। मरीज मानसिक तनाव का शिकार हो जाता है। ऐसे में वह अपने खान-पान की ओर भी ध्यान नहीं दे पाता। साथ ही उसके परिजन भी इस समस्या के शिकार हो जाते हैं। ऐसे में मरीज की देखभाल ठीक प्रकार से नहीं हो पाती, जबकि ऐसी स्थिति में मरीज को खान-पान, दवाओं और डायलसिस की ओर विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है। 
इस कार्यक्रम में डायलसिस मरीजों और किडनी रोगियों ने अपने अनुभव सांझा किए। विशेषज्ञों ने बताया कि किडऩी रोग के दौरान समय-समय पर जांच कराते रहना चाहिए और समय पर दवाओं का सेवन करना चाहिए। किडऩी में खराबी के दौरान लोगों में किडनी मरीजों के खान-पान को लेकर भी बहुत से मिथ्य मौजूद हैं। कार्यक्रम के दौरान मौजूद आहार विशेषज्ञ ने किडनी फेल्योर या डायलसिस के दौरान मरीजों को किस प्रकार के खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए।                                                                               

एशियन अस्पताल के चेयरमैन एवं मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ. एनके पांडे ने इस मौके पर एशियन अस्पताल की प्रतिबद्धता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि एक डॉक्टर होने के नाते वो किडऩी रोगियों में बेहतर बदलाव लाने की कामना करते हैं। और स्वयं भी सार्थक प्रयास करते हैं। कार्यक्रम में भाग लेने वाले मरीजों और उनके परिजनो को उनकी उचित देखभाल और इलाज के लिए भी प्रोत्साहित किया। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: