Sunday, July 9, 2017

आर्य समाज पलवल शहर में साप्ताहिक सत्संग और यज्ञ करके मनाई गई गुरु पूर्णिमा

पलवल(abtaknews.com)आर्य समाज पलवल शहर में साप्ताहिक सत्संग और यज्ञ करके गुरु पूर्णिमा मनायी गयाl जिसमें प्रात: सर्वप्रथम यज्ञ किया गयाl यज्ञ के ब्रह्म श्री अमन शास्त्री तथा मुख्य यजमान विकास मित्तल,अल्पना मित्तल, विकल्प और रुद्र नारायण मित्तल थे l इस अवसर मोती राम गुप्ता, मूल चन्द मुखी , जगबीर सिंह गिरधर , राजेश मंगला आदि ने प्रभु भक्ति के गीत प्रस्तुत किएl पलवल डोनर्स क्लब के मुख्य संयोजक आर्यवीर लायन विकास मित्तल ने बताया कि मेरा जीवन आर्य समाज की विचार धाराओं में पला और बढा है और मेरे जन्म से लेकर हर छोटे बड़े कार्य की शुरुआत हवन से होती है। ऐसी आस्था है कि हवन कुंड में डाली गयी एक-एक आहुति व्यक्ति के जीवन रूपी अग्नि को और विस्तार देगी तथा उसे और ऊंचा उठाएगी. इस जीवन की अग्नि में सारे पाप जलकर स्वाहा होंगे और जिससे सत्कर्मों की सुगंधि सब दिशाओं में फैलेगी l उन्होनें कहा कि भारत में वैदिक काल से ही गुरुओं को सर्वोच्च स्थान दिया गया है। लेकिन इस साल गुरू पूर्णिमा के त्यौहार का जिक्र अमेरिका के स्पेस रिसर्च कंपनी नासा ने भी किया है। गुरू पूर्णिमा एक बेहद पुराना भारतीय त्यौहार है जो हर साल आषाढ़ मास की पूर्णिमा पर मनाया जाता है। इस दिन सभी शिष्य या छात्र अपने गुरू को सम्मानित करते हैं। देश के कई स्कूलों और विश्वविद्यालयों में इस दिन तरह तरह के कार्यक्रम होते हैं। महावीर इंटरनेशनल पलवल उडान की चेयरपर्सन वीरा अल्पना मित्तल ने बताया कि गुरु पूर्णिमा को लेकर मान्यता है कि इस दिन महाभारत के रचयिता कृष्ण द्वैपायन वेद व्यास का जन्म हुआ था। ऐसा माना जाता है कि उन्होंने ही चारों वेदों को लिपिबद्ध किया था। इसी कारण से उन्हें वेद व्यास के नाम से जाना गया। उनके सम्मान में कई जगह गुरु पूर्णिमा को व्यास पूर्णिमा भी कहा जाता है। इस दिन श्रद्धालु पवित्र नदियों में स्नान करते है और अपने गुरुओं को सम्मान देते है। कार्यक्रम के अन्त में आर्य समाज पलवल शहर के प्रधान श्री चन्द्रशेखर मंगला जी नें यजमानों को जीवन उपयोगी पुस्तकें प्रदान करके सम्मानित किया l इस अवसर पर डा. महेश चन्द गर्ग, जगबीर सिंह गिरधर, हर्षदेव आर्य, खजान सिंह आर्य, जगदीश मुखी, दौलत राम गुप्ता, यशवीर आर्य, नरेश छाबडा, सुभाष छाबडा, राजेश मंगला ,राजकुमार आर्य, दिनेश मंगला,कैलाश आर्य, प्रभा आर्य, बिमलेश आर्य, विकल्प मित्तल, रुद्र नारायण मित्तल आदि मुख्य रूप से उपस्थित थेl

loading...
SHARE THIS

0 comments: