Friday, July 14, 2017

फरीदाबाद के बीके सिविल अस्पताल में लापरवाही के चलते बच्ची की मौत, नहीं दी एम्बुलेंस,कंधे पर शव

फरीदाबाद(abtaknews.com): दिल्ली से सटे फरीदाबाद के सिविल अस्पताल बादशाह खान के डॉकटरो का शर्मनाक चेहरा सामने आया है। जहा पहले तो डाक्टरों ने एक बीमार बच्ची के इलाज में लापरवाही बरती जिसके चलते बच्ची की मौत हो गई ,इतना ही नहीं डॉक्टरों का शर्मनाक चेहरा तो उस समय सामने आया जब उन्होंने मृत बच्ची के शव को घर तक ले जाने के लिए कोई एम्बुलेंस मुहईया नहीं कराई ,जिसके चलते बच्ची के परिजन शव को कंधे पर रख कर घर लेकर चल दिए। कंधे पर 9 साल की मासूम बच्ची लक्ष्मी के शव को रख कर घर ले जाते दिखाई दे रहे यह बच्ची के नाना है और रोती बिलखती दिखाई दे रही यह बच्ची की माँ है,दरअसल में यह नजारा है फरीदाबाद के सिविल अस्पताल बादशाह खान का और इनकी माने तो इनकी बच्ची को बुखार था जिसको वह पहले दो निजी अस्पतालों में लेकर गए लेकिन रुपयों के आभाव में उन्होंने बच्ची को कोई इलाज नहीं दिया जिसके बाद वह बच्ची को आज सुबह ही फरीदाबाद के सिविल अस्पताल बादशाह खान में लेकर पहुंचे थे लेकिन डाकटरो ने उसे कोई इलाज नहीं दिया और लापरवाही के चलते उसकी मौत हो गई। बच्ची की मौत के बाद अस्पताल के डाक्टरों ने उन्हें बच्ची के शव को घर ले जाने के लिए कहा दिया लेकिन उन्हें कोई एम्बुलेंस नहीं दी। और पैसे के आभाव में वह बच्ची के शव को अपने कंधे पर ही रखकर घर चल दिए। बच्ची के नाना कंधे पर शव को रखकर अस्पताल से कुछ दुरी पर ही पहुंचे थे की इस पर की मिडिया नजर पड़ गई मिडिया की टीम ने जब उनसे रोक कर पूछा तो मामले का खुलासा हुआ। जिसके बाद मिडिया ने अस्पताल के CMO को फोन कर इसकी सुचना देनी चाहि लेकिन CMO साहब ने मिडिया का फोन नहीं उठाया जिसके बाद मिडिया ने अस्पताल के पीएमओ को फोम मिलाया लेकिन उनका भी फोन नहीं मिला, मिडिया ने तब अस्पताल में रेडक्रॉस की एम्बुलेंस को फोन किया लेकिन उसके ड्राइवर ने बताया की एम्बुलेंस खराब है। जिसके बाद मिडिया ने एक निजी एम्बुलेंस बुला कर शव को उसके घर पहुँचाया। हरियाणा की खट्टर सरकार के दावों और वादों को खुद सरकारी कर्मचारी किस कदर पलीता लगा रहे है।

loading...
SHARE THIS

0 comments: