Saturday, July 8, 2017

बाबा रामकेवल के अनशन के 14 वें दिन छात्रों ने फूंका पूरे हरियााण मंत्रीमंडल का पुतला

फरीदाबाद(abtaknews.com)08july,2017;नगर निगम में भ्रष्ट्राचार की जांच की मांग को लेकर अनशन पर बैठे बाबा रामकेवल की बिगडती तबीयत के बाद प्रशासन द्वारा कार्यवाही न करने से गुस्साये युवा आगाज छात्र संगठन के दर्जनों छात्रों ने हरियाणा सरकार के खिलाफ नीलम चौक से नगर निगम तक विरोध जुलूस निकाला और हरियाणा सरकार मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए पूरे मंत्री मंडल का पुतला फूंका, जिसमें मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से लेकर कविता जैन, कैप्टन अभिमन्यु, के साथ-साथ फरीदाबाद के मंत्री और विधायकों के पुतले भी जलाये गये। छात्रों ने चेतावनी दी है कि अगर जल्द से जल्द एसआईटी गठन कर भ्रष्ट्राचार की जांच नहीं करवाई गई तो छात्र सडकों पर उतरेंगे उग्र प्रदर्शन करेंगे।
फरीदाबाद में एक नहीं दो नहीं बल्कि पूरे हरियाणा मंत्री मंडल का पुतला एक साथ फूंका गया। नगर निगम पर भ्रष्ट्राचार के खिलाफ पिछले 54 दिनों से चल रहे सत्याग्रह और 14 दिनों से चल रहे आमरण अनशन के बाद बाबा रामकेवल के स्वास्थ्य में हो रही गिरावट से गुस्साये छात्रों ने जागरूकता दिखाते हुए नीलम चौक से नगर निगम तक हरियाणा सरकार की शव यात्रा निकाली और पूरे मंत्री मंडल का पुतला फूंका। जिसमें मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से लेकर कविता जैन, कैप्टन अभिमन्यु, के साथ-साथ फरीदाबाद के केन्द्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुजर्र, केबिनेट मंत्री विपुल गोयल, बडखल विधायिका सीमा त्रिखा, बल्लभगढ विधायक मूलचंद शर्मा और निगमायुक्त सोनल गोयल के पुतले भी जलाये गये। गुस्साये छात्र जसवंत पंवार ने कहा कि ऐसी असंवेदनशील सरकार हरियाणा में पहली बाद देखी है जो कि भ्रष्ट्राचार के मुद्दे को लेकर सत्ता में आई और आज उसी भ्रष्ट्राचार में लिप्त होने के कारण भ्रष्ट्राचार की जांच नहीं करवा रही है। अरोप लगाते हुए कहा कि फरीदाबाद के मंत्री व विधायक सत्ता के नशे में चूर होकर सोये हुए हैं, क्योंकि फरीबाद के नेताओं को नगर निगम से हर महीने घूस जाती है जिसके कारण वो एसआईटी से जांच नहीं करवा रहे हैं। छात्रों की चेतावनी है कि अगर जल्द से जल्द से सरकार द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की गई तो अंजाम बहुत बुरा होगा।इस प्रदर्शन का नेतृत्व छात्र नेता अजय डागर, मनोज सैनी, मनीष, विशाल अत्री, देवेन्द्र पंवार, अनुज भाटी, रविंद्र कृष्ण शर्मा, जसवंत पंवार आदि ने किया।

loading...
SHARE THIS

0 comments: