Tuesday, July 18, 2017

तक्ष अस्पताल में डॉक्टरों ने दो दिन के बच्चे का किया सफल ऑप्रेशन

Taksh-Health-Care-Centre-NIT-Faridabad

फरीदाबाद 18 जुलाई,2017(abtaknews.com) एनआईटी-5 स्थित फरीदाबाद स्थित तक्ष अस्पताल की बाल शल्य चिकित्सक डा. श्वेता मल्होत्रा द्वारा किये गये सफल आप्रेशन से एक नवजात को जीवनदान मिला यह जानकारी अस्पताल के डायरेक्टर डा. धीरज मल्होत्रा ने दी। डा. धीरज मल्होत्रा ने बताया कि संजय गांधी मैमोरियल नगर निवासी सरफराज अपने नवजात बच्चे को काफी नाजुक हालत में तक्ष अस्पताल में लाया जहां उसने बच्चे की हालत के बारे में  बाल शल्य चिकित्सा डा. श् वेता मल्होत्रा को जानकारी दी जिस पर डा. श्वेता मल्होत्रा ने बच्चे की जांच की। 
डा. श्वेता मल्होत्रा ने बताया कि यह बच्चा दो दिन का था जो कि नार्मल डिलीवरी से हुआ था जन्म  से ही बच्चा पेट फूलना, उल्टिया होना एवं लैटरीन ना होने की समस्या से पीडि़त था। जिसकी जांच की गयी तो पाया गया कि बच्चे की आंत पूरी तरह से नहीं बनी थी जिसका हल केवल आप्रेशन ही है। उन्होने बताया कि इस बीमारी को (INTESTINAL ATRESIA) कहते हैे  जो कि बच्चे को गंर्भावस्था में ही हो जाती है  डा. श्वेता मल्होत्रा ने बताया कि यह आप्रेशन दो स्टेज के दौरान किया जाता है जिसकी जानकारी उसके माता पिता को दी जिनकी सहमति से उन्होंने बच्चे का आप्रेशन किया। उन्होने बताया कि आप्रेशन के दौरान बच्चे की आंत की रूकावट को दूर किया गया एवं टैम्पैररी उसका लैटरीन का रास्ता बनाया गया।  उन्होने बताया कि आप्रेशन के बाद बच्चा पूरी तरह से स्वस्थ है अब वह दूध भी पी रहा है और उसको लैटरीन भी सही आ रही है। 
डा. श्वेता मल्होत्रा ने गर्भावस्था में होने वाली इस बीमारी में बच्चे की आंत पूरी तरह से जुडी नहीं होती जिससे उसे पेट में सूजन, उल्टियां होना सहित अन्य कई तरह की समस्याओं से जूझना पडता है और इसका समय रहते आप्रेशन  नहीं किया जाये तो बच्चे की जान की हानि हो सकती है डायरेक्टर डा. धीरज मल्होत्रा ने बताया तक्ष अस्पताल की बाल शल्य चिकित्सक डा. श्वेता मल्होत्रा ने यह पहला सफल आप्रेशन नहीं किया है इससे पहले भी उन्होंने पलवल, बल्लभगढ, हथीन से इसी बीमारी से पीडित बच्चो को जीवनदान दिया है। इस मौके पेर बच्चे के पिता सरफराज एवं माता तबस्सुम ने डा. श्वेता मल्होत्रा का आभार जताया।


loading...
SHARE THIS

0 comments: